Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Off Beat

बिल्कुल सही- सलामत है शानदार मूछों वाला ये BSF जवान, शहीद होने की वीडियो फेक

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- सोशल मीडिया पर एक वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें आपने देखा होगा कि एक जवान अपने देश के लिए शहीद हो गया है. पर “Khabri Express” की Fact Check Team के द्वारा पता चला है कि इस वायरल वीडियो में कोई सच्चाई नहीं है. उन्होंने बताया वायरल पोस्ट में जिस व्यक्ति की बात कर रहें है और जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा की गई है, वह व्यक्ति और वीडियो में दिखने वाला व्यक्ति दोनों अलग है.

क्या है असली सच ?

जिस व्यक्ति की तस्वीर वायरल की गई है, वह 2019 की तस्वीर है. ये जैसलमेर की एक सेना के जवान राजेंद्र सिंह की तस्वीर थी. जो देश के लिए शहीद हो गए थे. जबकि वीडियो में जिस जवान की बात की जा रही है , वह BSF Constable वीरेंद्र सिंह हैं. जो अभी भी बांग्लादेश सीमा पर अपनी ड्यूटी कर रहें है. दोनों की मूंछों में भी समानता देखने को मिली है. इससे लोगों को गुमराह किया जा रहा है.

क्या अंतर है वीडियो और तस्वीर में? 

जो पोस्ट Social Media पर वायरल हो रहा है, उसमें हम देख पा रहें है कि सेना का एक जवान सेना की वर्दी पहने जिंदगी और मौत की बातें कर हंस रहा है. परंतु इस वीडियो में एक तस्वीर भी दिखाई गई है, जो साल 2019 के शहीद हुए राजेंद्र सिंह की तस्वीर है. जिसमें उनके शव को फूलों और मालाओं के साथ रखा गया है.

Fact Check Team ने कैसे लगाया पता?

वीडियो में जिस शहीद की तस्वीर को दिखाया जा रहा है, वो वायरल कोलाज की तस्वीर से बिल्कुल मेल खाती है. साथ ही हमनें Facebook पर वही तस्वीर देखी जो वायरल पोस्ट में है. इससे साफ पता चलता है, सोशल मीडिया यूजर्स को गुमराह किया गया है. वहीं हमने पाया इस तस्वीर को 30 सितंबर 2019 में पोस्ट करते हुए एक Facebook Users ने लिखा था, “आखिरी दर्शन, शहीद राजेंद्र सिंह भाटी, जैसलमेर”

Jyoti Pandey

मेरा नाम ज्योति पांडेय है. मैं Khabri Express पर बतौर कंटेंट राइटर काम करती हूं. मैं हिंदी पत्रकारिता की 3rd Year दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूं. मैंने कंटेंट राइटर का काम विभिन्न वेबसाइट पर किया है, जैसे - हरियाणा प्रेस, नव जगत , ड्रीम न्यूज 24. साथ ही मैने इंडिया न्यूज में इंटर्नशिप भी की है. मुझमें सबसे बड़ी खूबी है, मैं सीखने के लिए हमेशा अग्रसर रहती हूं. मैं अपने काम को लेकर ईमानदार और समयनिष्ठ हूं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button