Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Jyotish

Navratri 2022: इस दिन शुरू होंगे शारदीय नवरात्रि जाने शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- नवरात्र (Navratri ) हिंदू धर्म में एक प्रमुख त्योहार है, जिसे पूरे भारत में काफी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है. इस त्योहार पर लोगों द्वारा देवी दुर्गा के 9 रुपों की पूजा की जाती है. नवरात्र का यह त्योहार उत्तर भारत के कई राज्यों सहित पश्चिम बंगाल में इस पर्व का काफी भव्य आयोजन देखने को मिलता है. वैसे तो नारी शक्ति Devi Durga को समर्पित Navratri का यह त्योहार एक वर्ष में 4 बार आता है, लेकिन इनमें से 2 नवरात्रों को गुप्त नवरात्र माना जाता है और लोगो द्वारा चैत्र और शारदीय नवरात्र को ही मुख्य रूप से मनाया जाता है.

Navrati 2022

शारदीय Navratri 2022 क्यों मनाते हैं

ये नवरात्रि दशहरे से नौ दिन पहले शुरु होता है और इसका समापन दशहरे से एक दिन पहले या कई बार दशहरे के दिन भी होता है. इस त्योहार को लेकर ऐसी मान्यता है कि लंका पर आक्रमण से पहले भगवान श्रीराम ने ही समुद्र किनारे सबसे पहले शारदीय नवरात्रि की पूजा करते हुए Maa Adi Shakti से युद्ध में विजय श्री का आशीर्वाद मांगा था.

आपको बता दे कि इस दौरान आश्विन माह का समय था और प्रभु श्रीराम द्वारा लगातार नौ दिन माँ दुर्गा की पूजा की गयी थी. पूजा के फलस्वरुप उन्होंने लंका पर विजय प्राप्त की थी. नवरात्र के इसी पौराणिक महत्व को देखते हुए आश्विन माह में Shardiya Navratri के नाम से इस पर्व को मनाया जाता है.

शारदीय नवरात्र का इतिहास

नवरात्र पर्व का इतिहास काफी प्राचीन है. ऐसा माना जाता है कि Navratri का यह पर्व प्रागैतिहासिक काल से ही मनाया जा रहा है. इस त्योहार में देवी दुर्गा के नौ रुपों की पूजा की जाती है. इस पर्व को लेकर कई सारे पौराणिक तथा Historical कथाएं प्रचलित है. ऐसी ही नवरात्रि की सबसे प्रचलित पौराणिक कथा है उसके अनुसार-

Lanka युद्ध में ब्रह्माजी ने श्रीराम से रावण का वध करने के लिए चंडी देवी की पूजा करने को कहा. इस पर प्रभु Shri Ram ने Brahma के बताये अनुसार पूजा की तैयारियां करते हुए चंडी पूजन और हवन के लिए 108 दुर्लभ नीलकमल की व्यवस्था की. वहीं दूसरे ओर रावण ने भी विजय तथा शक्ति के कामना के लिए चंडी पाठ प्रारंभ किया तब देवराज इंद्र ने पवन देव के माध्यम से प्रभु श्रीराम को इस विषय में जानकारी भीजवायी. इधर हवन सामग्री में पूजा स्थल से एक Nilkamal रावण की मायावी शक्ति से गायब हो गया.

तब भगवान राम का संकल्प टूटता नजर आने लगा और उन्हें ऐसा लगा कि कही देवी रुष्ट ना हो जायें. उस प्रकार के दुर्लभ नीलकमल की तत्काल व्यवस्था असंभव थी, तब भगवान राम को यह बात याद आयी कि मुझे लोग Kamalnayan Navkancha Lochan भी कहते हैं तो क्यों न संकल्प को पूरा करने के लिए अपना एक नेत्र अर्पित कर दिया जाये और जैसे ही इस कार्य के लिए उन्होंने अपने तुणीर से एक बाढ़ निकालकर अपना आंख निकालने का प्रयास किया.

जैसे ही राम आँख निकलने लगे उनके सामने साक्षात देवी माँ ने प्रकट होकर उनका हांथ पकड़ लिया और कहा- राम मैं तुम्हारी आराधना से प्रसन्न हूँ और तुम्हे विजयश्री का आशीर्वाद देती हुं. ऐसा माना जाता है इसी के बाद से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हुई और यहीं कारण है कि नौ दिनों तक नवरात्र मनाने के बाद माँ दुर्गा की कृपा के कारण ही श्रीराम के लंका विजय के उत्सव में दसवें दिन दशहरा का त्योहार मनाते हुए रावण दहन किया जाता है.

कब है शारदीय नवरात्रि

इस वर्ष शारदीय नवरात्रि की शुरुआत 26 सितंबर से होगी और यह 5 अक्टूबर को समाप्त होंगे. नवरात्रि में 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग-अलग 9 रूपों की पूजा की जाती है.

शारदीय नवरात्री 2022 शुभ मुहूर्त

शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर से शुरू होकर 5 अक्टूबर को समाप्त होंगे पूजा का शुभ मुहूर्त 26 सितंबर को सुबह 11:54 से लेकर 12:45 तक रहेगा.

इस मुहूर्त में करें घटस्थापना

नवरात्रि में घट स्थापना का भी काफी महत्व होता है, जिसे कलश स्थापना भी कहा जाता है. पूजा के पहले कलश की स्थापना की जाती है. शारदीय नवरात्रि में कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 26 सितंबर को सुबह 6:20 से 10:19 तक रहेगा.

नवरात्रि में व्रत करना फलदाई

शारदीय नवरात्रि में नौ दिनों तक मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है, इस दौरान व्रत उपवास भी किया जाता है. मान्यता है कि व्रत रखने वाले मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए 9 दिनों तक व्रत करते हैं.

मां दुर्गा बरसाती है कृपा

नवरात्रि में यदि विधि विधान से पूजा पाठ किया जाए तो मां दुर्गा प्रसन्न होती है और जातक पर कृपा बरसाती है. इसके बाद कई परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है.

Sunny Singh

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम सनी सिंह है. मैं खबरी एक्सप्रेस वेबसाइट पर एडमिन टीम से हूँ. मैंने मास्स कम्युनिकेशन से MBA और दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म का कोर्स किया हुआ है. मैंने ABP न्यूज़ में भी बतौर कंटेंट राइटर काम किया है. फ़िलहाल मैं खबरी एक्सप्रेस पर आपके लिए सभी स्पेशल केटेगरी की पोस्ट लिखता हूँ. आप मेरी पोस्ट को ऐसे ही प्यार देते रहे. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button