Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Indian Train

रेलवे ने दिया तोहफा: यात्रियों को ट्रेन में खाने पीने के लिए नहीं देना होगा कैश, जाने रेलवे की नई व्यवस्था

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- भारतीय रेलवे ने रेल में सफर करने वाले यात्रियों के लिए एक नई व्यवस्था लागू की है. यदि आप भी ट्रेन में मिलने वाले खाने को पसंद करते हैं तो आपके लिए रेलवे ने बड़ी खुशखबरी दी है. रेल में दूर- दराज क्षेत्रों के लिए सफर पर जाने वाले यात्रियोंं को अब खाने पीने को लेकर कैश देने की चिंता नहीं होगी. रेलवे ने अब Cash देने की समस्या को जड़ से ही खत्म कर दिया है.

नगद भुगतान के साथ मिलेगा डिजिटल पेमेंट का ऑप्शन  

बता दे कि रेलवे ने यात्रियों के लिए खाने पीने की वस्तुओं पर डिजिटल पेमेंट की सुविधा लागू की है. आगे से यात्रियों को Train में खाने पीने की वस्तुओं के लिए नगद भुगतान के साथ-साथ Digital Payment का भी Option मिलेगा. यात्री जैसे चाहे वैसे Cash Payment कर सकते हैं.

वेंडरो द्वारा वसूला जा रहा एक्स्ट्रा चार्ज 

बता दे कि लखनऊ से नई दिल्ली की डबल डेकर अमरनाथ और कुशीनगर Express जैसी ट्रेनों से इस सेवा का शुभारंभ किया है. नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई Digitalization भारत योजना के तहत रेलवे ने भी इस व्यवस्था को लागू किया है. रेलवे ने बताया कि वेंडरों के द्वारा रेल यात्रियों से रेल नीर पर Extra Charge वसूला जा रहा था. साथ ही यात्रियों को खाने की प्लेट के साथ नैपकिन भी नहीं दिया जा रहा था. जिसकी शिकायतें बार-बार रेलवे को मिल रही थी.

मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक ने तुरंत कार्यवाई के दिए आदेश 

मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अजीत कुमार सिन्हा ने एक्स्ट्रा चार्ज वसूलने की शिकायत सही पाए जाने पर उन्होंने तुरंत कार्यवाही के निर्देश दिए हैं. इन शिकायतों पर पैंट्रीकार संचालकों ने सफाई देते हुए कहा कि ऐसे मामले केवल एक दो ही हो सकते हैं. हमारी तरफ से ऐसा कुछ नहीं किया जा रहा. उन्होंने कहा कि अवैध वेंडर ही यात्रियों से Extra Charge वसूल करते होंगे.

Author Shweta Devi

मेरा नाम श्वेता है. मैं हरियाणा के भिवानी जिले की निवासी हूं. मैंने D.Ed और स्नातक तक की पढ़ाई पूरी कर ली है. वर्तमान में मै Khabri Express पर बतौर लेखक के रूप में कार्य कर रही हूं. मै सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीम, एजुकेशन और लाइफ स्टाइल से जुड़े विभिन्न कंटेंट जितनी जल्द हो सके पाठको तक पहुंचाने की कोशिश करती हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button