Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Indian Train

अच्छी खबर: यदि Railway सफर के दौरान गायब हो जाए आपका सामान तो तुरंत करें ये काम, सरकार देगी मुआवजा

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- Indian Railway में सफर करने वाले यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए उनके लिए नए-नए नियम, कानून बना रही है. प्रतिदिन लाखों यात्री ट्रेनों में सफर करते हैं, बहुत बार सफर होता है कि यात्रा के दौरान कुछ यात्रियों का सामान चोरी हो जाता है, जिस वजह से यात्री काफी परेशान हो जाते है. उन्हें समझ नहीं आता की वे किससे मदद मांगे.

सामान न मिलने पर रेलवे देगी मुआवजा 

रेलवे सामान चोरी होने पर यात्रियों की काफी मदद कर सकता है, लेकिन यात्रियों को मदद लेने के नियमों का पता नहीं होता. आज हम अपनी इस Post के माध्यम से आपको बताएंगे कि आप कैसे रेलवे को अपने खोए हुए सामान की शिकायत कर सकते हैं, और यदि आपका सामान निश्चित अवधि तक नहीं मिलता है तो आपको रेलवे की तरफ से मुआवजा भी दिया जाएगा.

शिकायत दर्ज करवाने के लिए पूरी प्रक्रिया

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार यदि किसी यात्री का सामान Train में गुम हो जाता है, तो उसको रेलवे स्टेशन पर RPF सहायता अधिकारी से संपर्क करना होगा. वहां पर आपको शिकायत दर्ज करवाने के लिए FIR फॉर्म मिलेगा जिसे भरकर रेलवे पुलिस स्टेशन पर गार्ड, GRP एस्कॉर्ट या TTE के पास जमा करवाना होगा. यदि इसके बावजूद तय समयावधि तक आपको सामान नहीं मिलता है तो रेलवे आपके गुम सामान के आंकड़ों का मूल्यांकन करके आपको मुआवजा प्रदान करेगा. 

रेलवे ने चलाया “ऑपरेशन अमानत” अभियान 

रेलवे की तरफ से यात्रियों के खोए हुए सामान को ढूंढ़ने के लिए “ऑपरेशन अमानत” अभियान चलाया गया है. इस अभियान के तहत रेलवे पुलिस यात्रियों के समान को अपने पास सुरक्षित रख लेती है, और पाए हुए सामान की फोटो खींचकर रेलवे Zone की ऑफिशियल वेबसाइट पर डाल देती है. इस फोटो के माध्यम से यात्री अपने सामान की पहचान कर अपने सामान को वापस ले जा सकते है.

Author Shweta Devi

मेरा नाम श्वेता है. मैं हरियाणा के भिवानी जिले की निवासी हूं. मैंने D.Ed और स्नातक तक की पढ़ाई पूरी कर ली है. वर्तमान में मै Khabri Express पर बतौर लेखक के रूप में कार्य कर रही हूं. मै सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीम, एजुकेशन और लाइफ स्टाइल से जुड़े विभिन्न कंटेंट जितनी जल्द हो सके पाठको तक पहुंचाने की कोशिश करती हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button