Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Indian Train

Indian Railways: लक्जरी और स्पीड का अनोखा संगम है भारतीय रेल, जानिए ट्रेनों की सभी वैरायटी और उनकी खूबियां

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- भारत में परिवहन और यातायात के लिए सबसे ज्यादा रेल का ही प्रयोग किया जाता है. भारत के अधिकांश लोग आने जाने के लिए ज्यादातर रेलगाड़ी का ही इस्तेमाल करते हैं. रेलवे के पास अलग-अलग क्लास की ट्रेनों का एक भरा-पूरा Fleet उपलब्ध है. इनमें लक्जरी ट्रेनों से लेकर मेल, एक्सप्रेस, राजधानी, शताब्दी और वंदे भारत जैसी गाड़ियां हैं. इंडियन रेलवे द्वारा बहुत सी गाड़ियां चलाई जाती है जिसमें हाई-स्पीड, वातानुकूलित प्रीमियम ट्रेनें, पॉइंट-टू-पॉइंट सुपरफास्ट ट्रेनें, माउंटेन रेलवे (यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल के रूप में घोषित) और मेट्रो ट्रेनें शामिल हैं. आज हम आपको बताएंगे कि इंडियन रेलवे द्वारा कौन-कौन सी गाड़ियां चलाई जाती है और इनकी क्या-क्या विशेषताएं है.

राजधानी एक्सप्रेस

राजधानी एक्सप्रेस (Rajdhani Express) एक राष्ट्रीय ट्रेन है जिससे देश की अनेक हिस्से भारत की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से जुड़े हुए हैं. 130-140 किमी/घंटा की स्पीड से चलने वाली ये ट्रेन पूरी तरह AC ट्रेन है. तेज रफ्तार से चलने वाली ये गाड़ियां लंबी दूरी की होती हैं और यह सीमित स्थानों पर ही रुकती है. भारतीय रेलवे 24 जोड़ी राजधानी ट्रेन चला रहा है.

दुरंतो एक्सप्रेस

दुरंतो भी वातानुकूलित ट्रेन है. कुछ दुरंतो Sleeper Class के साथ भी चलती हैं. इन ट्रेनों की गति 130 किमी/घंटा है और यह भी कम ही स्टॉप पर रूकती है. दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेनें प्रीमियम कैटेगरी और लंबी दूरी की सुपरफास्ट ट्रेनें हैं जो भारत के कई राज्यों की राजधानियों और मेट्रो शहरों को कनेक्ट करती है. वर्तमान में 26 जोड़ी दुरंतो ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है.

लग्जरी ट्रेनें

पैलेस ऑन व्हील्स, रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स, महाराजा एक्सप्रेस, डेक्कन ओडिसी, गोल्डन चैरियट और महापरिनिर्वाण एक्सप्रेस कुछ ऐसी लग्जरी ट्रेन है जो भारतीय रेलवे संचालित करता है. फेयरी क्वीन एक लग्जरी ट्रेन है जो दिल्ली से अलवर के बीच चलती है. इस ट्रेन में सबसे पुराना भाप इंजन लगा हुआ है. भारतीय रेलवे पर्यटक ट्रेनों के तौर पर बौद्ध सर्किट स्पेशल ट्रेनें, आस्था सर्किट ट्रेनें और भारत दर्शन ट्रेनें संचालित करती है.

शताब्दी एक्सप्रेस

Shatabdi Express दिन की गाड़ियां है जो छोटी से मध्यम दूरी के बीच संचालित होती है. यह ट्रेन एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन के बीच की दूरी 1 दिन में ही तय कर देती है. शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनें सुपर-फास्ट और पूरी तरह से AC ट्रेनें हैं जो प्रमुख भारतीय शहरों को आपस में कनेक्ट करती है. इन ट्रेनों में आप सिर्फ बैठ सकते हैं इनमें लेटने की जगह नहीं होती. फिलहाल इस प्रकार की 25 जोड़ी ट्रेने उपलब्ध है.

Mail ट्रेन

पहले डाक ले जाने के लिए ट्रेनों में स्पेशल डब्बे होते थे इसलिए उन ट्रेनों को ‘मेल’ कहा जाने लगा. फिलहाल भारत में सभी ट्रेन द्वारा मेल ले जाने के लिए अपने लगेज कोच का इस्तेमाल किया जाता है. परन्तु अब भी इनका पुराना नाम ही चलता है.

Mountain रेलवे

माउंटेन रेलवे ट्रेन लाइनें पहाड़ों में चलती है. देश के सात पर्वतीय रेलवे में से तीन को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल घोषित किया है. इनमें दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे उर्फ टॉय ट्रेन, कालका-शिमला रेलवे और नीलगिरी माउंटेन रेलवे शामिल है.

इंटरसिटी एक्सप्रेस

इंटरसिटी ट्रेनें अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में ज्यादा किफायती हैं लगभग यह 2 शहरों को आपस में जोड़ती है. इन ट्रेन में सिर्फ सीट होती हैं बल्कि कोई बर्थ नहीं होते. ये ट्रेनें छोटे रूटों पर हाई या सेमी हाई स्पीड के साथ संचालित होती हैं.

जन शताब्दी एक्सप्रेस

जन शताब्दी ट्रेनें 140 किमी/घंटा की शीर्ष गति से चलती है. जन शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनें शताब्दी एक्सप्रेस का किफायती Model है. इस सुपरफास्ट डे-ट्रेन में एसी और नॉन एसी दोनों ऑप्शन मिलते हैं.

संपर्क क्रांति एक्सप्रेस

ये ट्रेनें 110 किमी/घंटा की अधिकतम गति से संचालित होती है. संपर्क क्रांति एक्सप्रेस Superfast ट्रेनें हैं जो नई दिल्ली को राज्य की राजधानियों या अन्य शहरों से जोड़ती है. वे राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों का एक सस्ता ऑप्शन है. ये एसी और गैर-एसी दोनों कोचों में कम पैसे में यात्रा का ऑप्शन देते हैं.

हमसफर एक्सप्रेस

ट्रेन की स्पीड और स्टेशनों के बारे में जानकारी देने वाली एलईडी स्क्रीन, सीसीटीवी कैमरे, पब्लिक अनाउंसमेंट सिस्टम, कॉफी/चाय वेंडिंग मशीन, चार्जिंग पोर्ट, स्मोक अलार्म, रेफ्रिजरेशन, हीटिंग सुविधाएं और बायो-टॉयलेट जैसी कई सुविधाओं से सुसज्जित ये गाड़ियां शानदार होती है.

कवि गुरु एक्सप्रेस

ये ट्रेनें नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर के सम्मान में शुरू की गई थी तथा इन ट्रेनों की 4 जोड़ी की एक Series है.

वंदे भारत एक्सप्रेस

यह सम्पूर्ण रूप से वातानुकूलित, सेमी-हाई-स्पीड, इंटरसिटी डे-ट्रेन है. इस ट्रेन में CCTV कैमरे, WiFi, हाइड्रोलिक-प्रेशर दरवाजे, स्नैक टेबल और धुआं/आग का पता लगाने तथा बुझाने की प्रणाली जैसी विभिन्न सुविधाएं मिलती है. यह 200 किमी/घंटा की स्पीड से गतिमान है. वर्तमान में यह भारत की सबसे तेज ट्रेनों में गिनी जाती है.

सुपरफास्ट एक्सप्रेस

ये ट्रेनें सामान्य एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में कम स्टॉप पर रूकती है, जिससे यात्रा थोड़े समय में ही पूरी हो जाती है. सुपरफास्ट ट्रेनों के किराए में सुपरफास्ट सरचार्ज जुडा होता है, जो उन्हें सामान्य एक्सप्रेस ट्रेनों की अपेक्षा महंगा करता है.

पैसेंजर ट्रेन

धीमी यात्री ट्रेनों और तेज यात्री ट्रेनों के रूप में ये ट्रेनें लगभग 40-80 किमी/घंटा की धीमी गति से चलती है तथा इन यात्रा करना भी काफी किफायती होता है. ये ट्रेनें अपने रूट के हर स्टॉप पर रुकती हैं. इनसे कस्बे और बड़े शहर आपस में जुड़ते हैं.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button