Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Rohtak News

Rohtak PGIMS में कमीशनखोरी धंधा: मरीज PGI के, मशीनें भी PGI की और टेस्ट करके चांदी कूट रहे शहर के प्राइवेट लैब संचालक

इस न्यूज़ को शेयर करे:

रोहतक :- सरकार ने PGIMS रोहतक में करोड़ों रुपए की मशीन लगाई हुई है. सरकार ने इसके लिए स्थान भी उपलब्ध करवाए है.  इसमे सरकार की मशीनें, सरकार के केमिकल का यूज़ होता है, लेकिन इसका लाभ प्राइवेट लैब वाले उठा रहे हैं. सरकारी कर्मचारी जिनके कंधों पर प्राइवेट लैब वालों के धंधे पर नकेल कसने की जिम्मेवारी है. उन्हे सब कुछ पता है लेकिन पैसो के लालच में कुछ नहीं करते और इस चक्कर में गरीब मरीज पिस रहे हैं.

रोहतक PGI में हुआ बड़ा खुलासा

जो गरीब लोग प्राइवेट अस्पतालो मे इलाज करवाने मे सक्षम नही है फिर भी पीजीआई के कुछ कमीशनखोर गरीबों लोगो को प्राइवेट दलालों के हाथ में सौंपकर देते है और उससे लाभ कमा रहे हैं. PGI में ऐसा होना कोई नई बात नहीं है. कई वर्षों से ही मरीजों के साथ ऐसा ही होता रहा है. PGIMS मे इमरजेंसी में प्राइवेट लैब के कर्मचारी मरीजों का सैंपल लेते हैं. टेस्ट के बाद रिपोर्ट भी वही देते हैं और यही नहीं इमरजेंसी के कमरा नंबर 6 में सैंपल की जांच करने के बीजीए मशीन लगी हुई है, लेकिन इस पर सैंपल प्राइवेट लैब का कर्मचारी ही लगाता है.

Govt. की छवि को खराब करने में लगे हुए हैं यह कर्मचारी

प्राइवेट लैब और अस्पताल वाले PGMIS की छवि को खराब करते है. वही दूसरी ओर प्राइवेट लैब वाले 24 घंटे अपने कर्मचारियों को पीजीआई में रखते है. इमरजेंसी मैं अगर Doctor ने किसी मरीज का टेस्ट लिखा है तो प्राइवेट लैब वाले तुरंत Test करने मरीज के पास चले जाते हैं और लैब का कर्मचारी मरीज के सैंपल लेता है और उसको जांच के लिए भेज देता है.

Staff के अलावा कोई नहीं ले सकता मरीज के ब्लड सैंपल 

पीजीआई में डॉक्टर और Staff Nurse के अलावा कोई मरीज के ब्लड सैंपल नहीं ले सकता. पीजीआई में खुलेआम कानून का उल्लंघन किया जा रहा है. प्राइवेट लैब के कर्मचारी न केवल सैंपल ले रहे हैं, बल्कि PGI कर्मचारियों के सामने ही ज्यादा पैसे वसूलते है और उन्हें  कोई रोकने टोंकने वाला भी  नहीं है. PGIMS मे एक काम करने वाले एक युवा ने गरीब मरीजों को  इस लूट से आहत दिलाई और गरीब मजबूर लोगों की सहायता के मकसद से चिकित्सा क्षेत्र में  प्रवेश किया,लेकिन यहां हो रही लूट से छुटकारा दिलाया. उस युवा ने ना केवल आगे बढ़कर सहयोग दिया, बल्कि मुनाफाखोरो को भी बेनकाब किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button