Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Rewari News

गुरुग्राम से बावल के बीच मेट्रो के लिए अभी करना होगा इंतजार, भूमि अधिग्रहण के रफ़्तार पकड़ेगा प्रोजेक्ट

इस न्यूज़ को शेयर करे:

रेवाड़ी :- वर्ष 2012 में Gurugram से बावल तक Metro का परिचालन करने के लिए MRTS प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई थी, इस प्रोजेक्ट के तहत भूमि अधिग्रहण का कार्य भी पूरा हो चुका है, लेकिन इसके बावजूद किसी न किसी कारणवश मेट्रो का कार्य बीच में ही अटक जाता है. एक बार फिर से प्रस्तावित मास Rapid ट्रांजिट सिस्टम (MRTS) की रफ्तार धीमी पड़ती हुई नजर आ रही है. MRTS और रीजनल ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) दोनों ही परियोजनाए आगे नहीं बढ़ पा रही है.

2012 से 2017 तक होना था निर्माण कार्य पूरा

वर्ष 2012 में गुरुग्राम- मानेसर-धारूहेड़ा- बावल तक MRTS Project को मंजूरी मिल गई थी. HSIIDC ने भूमि अधिग्रहण करके MRTS को प्रदान की थी. वर्ष 2017 तक इस रूट पर मेट्रो चलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, लेकिन अभी तक इन परियोजनाओं पर सरकार की मशीनरी आगे नहीं बढ़ रही है.

120 करोड़ रुपए किसानों को दिए गए मुआवजे के रूप में

सरकार ने रेवाड़ी के किसानों को अधिग्रहित जमीन के बदले 120 करोड़ रुपए मुआवजे के रूप में दे दिए है, और 81 करोड़ 53 लाख 62 हजार 130 रुपए का भुगतान करना शेष है. वहीं सरकार ने किसानो की जमीन पर बने हुए Structure का मुआवजा अभी तक किसानो को नहीं दिया गया है. MRTS Project के लिए रेवाड़ी के किसानों को 201 करोड़ 53 लाख 62 हजार 130 रुपए का भुगतान भी किया जाना है. March 2022 में जिला राजस्व अधिकारी ने शेष मुआवजा राशि भेजने के लिए HSIIDC के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा.

MRTS में 50 और RRTS में 19 स्टेशन प्रस्तावित

रैपिड मेट्रो के लिए प्रस्तावित MRTS और RRTS प्रोजेक्ट बिल्कुल अलग अलग है. बता दे कि MRTS प्रोजेक्ट में गुरुग्राम से लेकर बावल तक कुल 50 स्टेशन और RRTS प्रोजेक्ट में दिल्ली से अलवर तक 19 स्टेशन बनने प्रस्तावित है. हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने MRTS प्रोजेक्ट को संज्ञान में लेते हुए CM के प्रधान सचिव वी. उमाशंकर से बातचीत करने की बात कही.

Author Shweta Devi

मेरा नाम श्वेता है. मैं हरियाणा के भिवानी जिले की निवासी हूं. मैंने D.Ed और स्नातक तक की पढ़ाई पूरी कर ली है. वर्तमान में मै Khabri Express पर बतौर लेखक के रूप में कार्य कर रही हूं. मै सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीम, एजुकेशन और लाइफ स्टाइल से जुड़े विभिन्न कंटेंट जितनी जल्द हो सके पाठको तक पहुंचाने की कोशिश करती हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button