Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Nuh News

धरा रह गया हरियाणा सरकार का विकास, पिछड़े जिलों की सूची में देश में चौथे स्थान पर पहुंचा नूँह

इस न्यूज़ को शेयर करे:

मेवात :- देश में शिक्षा और स्वास्थ्य संबंधित क्षेत्रों में पिछड़े जिलों का निरीक्षण किया गया. देश के लगभग 114 पिछड़े जिलों की List बनाई गई. इस List में हरियाणा राज्य का नूँह जिला भी शामिल है. प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार नूँह जिले को ऊपर उठाने के लिए विभिन्न प्रयास कर रही है, इसके बावजूद आज देशभर के पिछड़े जिलों में नूँह चौथे नंबर पर आया है. October महीने में यह Ranking की गई थी.

मेंवात पिछड़ेपन में रहा चौथे नंबर पर  

बता दें कि हाल ही में October महीने में हुई डेल्टा Ranking में हरियाणा का नूँह जिला देशभर के पिछड़े जिलों में चौथे स्थान पर रहा है. जबकि प्रारंभ में यह देशभर के 114 पिछड़े जिलों की सूची के अंतिम पायदान पर था. इसके अलावा यदि All परफॉर्मेंस में अलग-अलग क्षेत्रों की बात करें तो शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में पहले 10वे पायदान पर यह जिला शामिल है. हरियाणा सरकार और केंद्र सरकार नूँह जिले को प्रत्येक क्षेत्र में ऊँचा उठाने के लिए मिलकर प्रयास कर रही है.

शिक्षा के क्षेत्र में भी दिया विशेष ध्यान 

जिला उपायुक्त ने जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा विभाग में Teachers की कमी थी जिसे पूरा करना सरकार के लिए बड़ी चुनौती थी. परंतु NGO के माध्यम से शिक्षा सहायको की सहायता से देशभर में दूसरा पायदान हासिल किया था. अध्यापकों की कमी पूरी करने के लिए सरकार ने कुछ Teachers का तबादला कर नूँह में तैनात किया गया. इसके अलावा 500 PRT तथा 125 TGT के अध्यापक लगाए थे. अध्यापकों की कमी पूरा होने के बाद शिक्षा रैंकिंग में काफी उछाल आया है. सरकार शिक्षा के क्षेत्र प्रभावी बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं.

लोगों को जागरूक कर रही स्वास्थ्य विभाग की टीमें

इसके अलावा अजय कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की Team लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाने का कार्य कर रही है. सरकार द्वारा किए गए कार्यों का ही परिणाम है कि आज मेवात जिला पिछड़ेपन से थोड़ा ऊपर उठ पाया है. Covid महामारी के समय मे भी यह जिला निरंतर विकास की तरफ बढ़ रहा है. गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की लगातार जांच की जा रही है, उन्हें निरंतर टीकाकरण और अन्य स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिया जा रहा है. उम्मीद की जा रही है कि आने वाले वर्षों में जिला पिछड़ेपन की List से बाहर आ जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button