Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana News

अब हरियाणा में जबरदस्ती नहीं होगा किसानों की भूमि का अधिग्रहण, किसानो की मर्जी से खरीदी जाएगी जमीन

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- हरियाणा के किसानों के लिए एक जरूरी खबर सामने आई है. बता दें कि अब शहरीकरण और औद्योगीकरण के लिए Haryana मे किसानों की जमीनों का जबरदस्ती अधिग्रहण नहीं किया जाएगा. यदि किसान अपनी मर्जी से जमीन देना चाहे, तो ही उन से जमीन ली जाएगी. इसके साथ ही अलग-अलग Project के लिए प्रदेश में लैंड बैंक तैयार किए जाएंगे. जिससे परियोजनाओं को Time पर जमीन उपलब्ध हो सके. ऐसा करने से विकास Work भी जल्दी होगा.

अब जबरदस्ती नहीं होगा किसानों की भूमि पर अधिग्रहण 

इस संबंध में शुक्रवार को टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग ने हरियाणा लैंड पूलिंग पॉलिसी- 2022 की अधिसूचना जारी की. बता दें कि इस पॉलिसी को 29 July को हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूर किया गया था. किसानों की मर्जी से जमीन मिलने के बाद ही हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण प्रकाशित विकास योजना में शहरी क्षेत्र के भीतर स्थित आवासीय, वाणिज्य, संस्थागत और बुनियादी ढांचे का विकास करेगा.

इस प्रकार करना होगा आवेदन

इस नीति के तहत कोई भी भूमि मालिक सीधे या एग्रीगेटर के जरिए आवेदन मांगे जाने पर 60 दिनों के अंदर परियोजना के लिए भूमि की पेशकश कर सकता है. इस अवधि को आवश्यकता के अनुसार बढ़ाया भी जा सकता है, जो 30 दिनों से ज्यादा नहीं होगी. इसके आवेदन के लिए भी कोई भी शुल्क नहीं देना होगा और आवेदन भी केवल Online ही जमा किए जाएंगे. भू -मालिक भूमि के बदले विकसित भूमि भी ले सकते हैं. यह परियोजना की कुल लागत में भूमि मालिकों को दी गई विकसित भूमि के बाजार मूल्य पर आधारित होगी.

Author Meenu Rajput

नमस्कार मेरा नाम मीनू राजपूत है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर बतौर कंटेंट राइटर काम करती हूँ. मैंने बीकॉम, ऍम कॉम तक़ पढ़ाई की है. मैं प्रतिदिन हरियाणा की सभी ब्रेकिंग न्यूज पाठकों तक पहुंचाती हूँ. मेरी हमेशा कोशिश रहती है कि मैं अपना काम अच्छी तरह से करू और आप लोगों तक सबसे पहले न्यूज़ पंहुचा सकूँ. जिससे आप लोगों को समय पर और सबसे पहले जानकारी मिल जाए. मेरा उद्देशय आप सभी तक Haryana News सबसे पहले पहुँचाना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button