Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Mahendragarh News

अंजू बनी हरियाणा में सबसे कम उम्र की सरपंच, पहली बार बेटी के सर पर सजा ताज

इस न्यूज़ को शेयर करे:

महेंद्रगढ़ :- हरियाणा के 9 जिलों में गांव पंचायत चुनाव संपन्न हो चुके हैं. कही एक वोट से जीत दर्ज की है वही कही 2 वोट से कोई जीता. वही हरियाणा के महेंद्रगढ़ उपमंडल के गांव खुडाना की अंजू प्रदेश में सबसे कम उम्र की सरपंच बनी हैं. 10 हजार की आबादी वाले गांव खुडाना के ग्रामीणों ने 21 वर्ष एक माह 18 दिन की बेटी अंजू को गांव की चौधर का ताज पहनाया.

244 मतों से प्रतिद्वंदी महिला को हराया

इससे पहले फतेहाबाद निवासी शिवानी पाठक 21 साल, दो माह 2 दिन की उम्र में सरपंच बनी थीं लेकिन अंजू ने कम उम्र में सरपंच बनकर इतिहास रच दिया. इसके अलावा गांव खुडाना में भी पहली बार बेटी सरपंच बनी है. वर्तमान में अंजू BAMS प्रथम वर्ष की छात्रा है. डॉक्टर नरेश सिंह तंवर की बेटी अंजू ने अपनी प्रतिद्वंद्वी महिला उम्मीदवार को 244 मतों से मात दी है. पिछली चार सदी के दौरान क्षेत्रफल की दृष्टि से जिले के सबसे बड़े गांव खुडाना से अलग होकर 28 ग्राम पंचायतें अस्तित्व में आ चुकी हैं. 20 किलोमीटर के दायरे में फैला 6700 मतदाताओं व 10 हजार की आबादी वाला यह गांव राजनीतिक दृष्टि से भी जिलेभर में विशेष रूप से पहचाना जाता है. प्राचीन समय से ही इस गांव का एक विशिष्ट स्थान है.

अन्य लोग भी देंगे बेटियों को बढ़ावा 

तीन छोर से पहाड़ियों से घिरा यह गांव प्रत्येक विधानसभा Election में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है. अंजू के पिता डॉ. नरेश ने बताया कि बेटियों ने समय समय पर अपनी प्रतिभा के दम पर जिले का गौरव बढ़ाया है. ग्रामीणों ने जो मान-सम्मान दिया है, उसका ऋणी रहूंगा. बेटी को गांव की सरपंच बनाकर अब प्रदेशभर की बेटियों के लिए एक मिसाल पेश की गई है. आगे अन्य लोग भी अपनी बेटियों को बढ़ावा देंगे.

गांव के विकास के लिए की जाएगी भरपूर कोशिश

गांव खुडाना की नवनिर्वाचित सरपंच अंजू का कहना है कि ग्रामीणों ने जो विश्वास जताया है, उस पर खरा उतरने की कोशिश रहेगी. वर्तमान में गांव की आबादी के अनुसार मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं. सबसे बड़ी समस्या पेयजल, साफ-सफाई, कच्ची गलियां, सीवर नहीं होना, बदहाल स्वास्थ्य सेवाएं, दूषित पानी की निकासी न होना आदि हैं. वहीं खेल, शिक्षा, स्वास्थ्य Services भी अच्छी नहीं है. बिजली, पानी, शिक्षा स्वास्थ्य, खेल आदि पर प्राथमिकता से योजनाबद्ध तरीके से काम किया जाएगा. सभी को साथ लेकर गांव का संपूर्ण विकास कराना Target रहेगा. ग्रामीणों का यह ऋण गांव की तस्वीर बदलकर उतारने की कोशिश की जाएगी. अंजू का कहना है कि वह गांव के विकास के लिए भरपूर प्रयत्न करेगी और गांव वालों के उन्हें सरपंच बनाने के फैसले को सही सिद्ध करेगी.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
PAK VS NZ T20 WC 2022 Playing 11: सेमाीफाइनल मुकाबले में ऐसी हो सकती है न्यूजीलैंड और पाकिस्तान की प्लेइंग 11 ये हैं भारत की सबसे ज्यादा फीचर्स वाली टॉप-5 सीएनजी कारें, Top CNG Cars ICC T20 World Cup 2022: India vs England सेमीफाइनल मुकाबले से पहले बुरी खबर, यह स्टार खिलाड़ी हुआ चोटिल