Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana NewsLifestyle

वाहनों के लिए मिलने लगे BH नंबर, जानिए कैसे और किसको मिलेगा यह खास तरह का नंबर

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- अब आपको किसी दूसरे राज्य में जाने पर अपने वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर बदलने की कोई आवश्यकता नहीं है. वाहन को जो रजिस्ट्रेशन एक बार मिलेगा पूरी आयु सीमा तक वही नंबर रहेगा. भारत के सीरीज नंबरों के साथ यह सब किया जायेगा. चंडीगढ़ में भारत (BH) सीरीज के नंबरों का रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है. रजिस्ट्रिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (RLA) द्वारा बीएच सीरीज के नंबरों का रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है. कई लोगों को ऐसे नंबर जारी भी किए जा चुके है.

जाने किसको मिलेगा इस सीरीज का नंबर

हर किसी को इस सीरीज का रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं मिलेगा. यह नंबर केवल उन्हीं को मिलेगा जो गवर्नमेंट सर्विस में हैं और उनका ट्रांसफर किसी दूसरे राज्य में भी किया जा सकता है. उन्हें अपने ऑफिशियल आईडी कार्ड की प्रति देनी होगी. साथ ही उन प्राइवेट सेक्टर के कार्यकर्ताओं को भी यह नंबर मिलेगा जिनके ऑफिस चार या इससे अधिक दूसरे राज्यों में स्थित है. इसके लिए फार्म-60 वर्किंग सर्टिफिकेट देना अनिवार्य होगा. ऑनरशिप के आधार पर केवल निजी तौर पर नया नॉन ट्रांसपोर्ट व्हीकल खरीदने पर बीएच सीरीज का नंबर लिया जा सकता है.

चंडीगढ़ में इस सीरीज के लिए यह लगेगा रोड टैक्स

10 लाख से कम – 8 फीसद

डीजल वाहन पर 2 फीसद अतिरिक्त इलेक्ट्रिक पर 2 फ़ीसदी कम

10-20 लाख – 10 फीसदी

डीजल वाहन पर दो फिसदी अतिरिक्त इलेक्ट्रिक पर 2 फीसदी कम

20 लाख से अधिक – 12 फीसदी

जानिए कैसे बनती है बीएच सीरीज

इस सीरीज में सबसे पहले दो अंकों में वर्ष होते हैं. इसके बाद बीएच यानी सीरीज का कोड होता है. उसके बाद 0001-9999 तक कोई भी नंबर होता है. अंत में दो अंग्रेजी वर्णमाला के अक्षर होंगे. इसमें I और O अल्फाबेट को छोड़कर बाकी का प्रयोग किया जाता है. उदाहरण के लिए YYBH####XX यानी अगर वाहन 2022 में रजिस्ट्रेशन होता है तो इसमें नंबर – 22BH4321CB हो सकता है.

इन 5 स्टेप से करें रजिस्ट्रेशन

  • नया वाहन खरीदते समय डीलर,मालिक की तरफ से वाहन पोर्टल पर एप्लीकेशन फार्म-20 भरेगा.
  • डीलर वाहन पोर्टल पर भारत सीरीज चुनेगा.

दस्तावेज की आवश्यकता

  • वर्किंग सर्टिफिकेट फार्म-60, ऑफिशियल आईडी कार्ड व अन्य दस्तावेज डीलर अपलोड करेगा.
  • आरटीओ बीएच सीरीज की एप्लीकेशन पर स्वीकृति देगा.
  • ऑनलाइन आवश्यक फीस भरनी होगी. मोटर व्हीकल टैक्स दो सालों के लिए शुरुआती चरण में जमा होगा.

यह सारे चरण पूरा करने के बाद पोस्ट स्वीकृत होने पर बीएच सीरीज का नंबर उतपन्न हो जाता है. इसमें वाहन मालिक को दो-दो वर्षों के लिए मोटर व्हीकल टैक्स जमा कराना होता है. 14 साल तक ऐसा ही होता है. इसके बाद मोटर व्हीकल टैक्स वार्षिक तौर पर जमा होगा. प्रति वर्ष के हिसाब से यह जमा कराना होगा.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button