Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana NewsSonipat News

आज से हरियाणा की मंडियों में आढ़तियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, फसलों की खरीद न होने से गिर सकते है भाव

इस न्यूज़ को शेयर करे:

सोनीपत :- आढ़त को निश्चित करने, बासमती प्रजातियों को E-Name से जोड़ने के विरुद्ध तथा 20 सितंबर से धान खरीद की शुरूआत कराने व अन्य कई Demands को लेकर हरियाणा स्टेट आढ़ती Association के आह्वान पर 19 सितंबर से राज्य की सभी 135 अनाज मंडियां अनिश्चित समय के लिए बंद रहेंगी. आढ़ती अपनी- अपनी मंडियों में खरीद Sale नहीं करेंगे जबकि धरना प्रदर्शन करेंगे.

धान की फसल पककर बिल्कुल तैयार

हरियाणा Government की तरफ से अभी तक धान खरीद Policy भी जारी नहीं की गई है. किसानों के लिए यह चिंता का विषय है, क्योंकि उनका धान इस समय पककर बिल्कुल तैयार है. पूसा बासमती की प्रजातियों के साथ PR धान भी मंडियों में आ रहा है. हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के State Chairman रजनीश चौधरी ने रविवार को अनाज मंडी में स्थानीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की तथा पूरे प्रदेश की मंडियों में हड़ताल (Strike) की तैयारियों के बारे में बात की. उन्होंने बताया कि सोमवार से प्रदेशभर की अनाज मंडिया बिल्कुल बंद रहेंगी.

सुबह 10:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक होगा धरना प्रदर्शन 

किसानों से हड़ताल के वक़्त धान लेकर मंडियों में न आने का निवेदन किया गया है. लेकिन फिर भी यदि कोई किसान धान लेकर आ जाता है तो उसकी फसल को उतार तो लिया जाएगा लेकिन खरीद नहीं होगी. सभी मंडियों में सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक आढ़ती धरना प्रदर्शन करेंगे. बैठक में उप प्रधान राज कुमार सिंगला, महासचिव राजेश चौधरी, रिंकू, बग्गा सिंह संधू, रॉबिन नरवाल आदि ने हिस्सा लिया.

हड़ताल को मिला राजनीतिक साथ 

आढ़तियों की हड़ताल को राजनीतिक समर्थन भी मिलता दिखाई दे रहा है. इंडियन नेशनल लोक दल (इनेलो) के नेताओं ने रविवार को हड़ताल को समर्थन देने की घोषणा की है. संभव है कि सोमवार को कांग्रेस भी समर्थन की घोषणा कर दे. प्रदेशभर के आढ़ती रविवार की शाम तक भी हरियाणा सरकार के फैसले का इंतजार कर रहे थे लेकिन सरकार ने इस बारे में आढ़तियों से कोई विचार-विमर्श नहीं किया है. अभी तक सरकार ने धान खरीद पॉलिसी भी जारी नहीं की है. इससे प्रतीत होता है कि सरकार धान खरीद व आढ़तियों की मांगों को लेकर ज्यादा Serious नहीं है.

धान खरीद पॉलिसी भी नहीं हुई जारी

हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के स्टेट चेयरमैन रजनीश चौधरी ने कहा कि जब तक सरकार द्वारा मांगें नहीं मानी जाती , तब तक मंडियों में आढ़तियों की हड़ताल जारी रहेगी.  करनाल Rice मिल एसोसिएशन के प्रधान सौरव गुप्ता ने कहा कि हरियाणा सरकार ने अभी तक न तो धान खरीद पॉलिसी Issue की न ही राइस मिलों से धान खरीद का Contract किया. राइस मिलों को प्रति वर्ष उसकी Capacity के मुताबिक CMR के लिए धान आवंटित किया जाता है. अभी तक सरकार द्वारा राइस मिलों से उनके Plant की क्षमता से जुडा कोई अभिलेख भी नहीं मांगे गए हैं और न ही आवेदन आमंत्रित किए हैं. इस पूरी Process में पांच छह दिन का समय लग जाता है.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button