Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana NewsLifestyle

HSSC के सदस्य सत्यवान शेरा ने दिया अपने पद से इस्तीफा, यह था इस्तीफे का मुख्य कारण

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की तरफ से एक बड़ी खबर सामने आ रही है .बता दें कि कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य सत्यवान शेरा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. शेरा के चालक पद छोड़ने को लेकर तरह- तरह के अनुमान लगाए जा रहे हैं . राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया. सत्यवान शेरा राजनीति में काफी सक्रिय है और भाजपा की टिकट के दावेदार हों सकते है.

HSSC के सदस्य ने दिया अपने पद से इस्तीफा 

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग में पिछले वर्ष 23 मार्च को चेयरमैन और 5 सदस्यों की नियुक्ति तीन वर्ष के लिए की थी. सत्यवान शेरा ने यमुनानगर के भोपाल सिंह खदरी को चेयरमैन बनाने के साथ-साथ मोहाली के कंवलजीत सैनी, सोनीपत के विकास दहिया, हिसार के सचिन जैन और चरखी दादरी के विजय कुमार को सदस्य बनाया था. शेरा ने नियुक्ति के सवा साल के अंदर ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

HSSC को आज तक नहीं मिला है विधानसभा के जरिये कानूनी दर्जा 

पंजाब और हरियाणा के हाई कोर्ट एडवोकेट हेमंत कुमार ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि आज तक आयोग को विधानसभा के जरिए कानूनी दर्जा नहीं दिया गया है. हेमंत कुमार ने कहा कि आयोग का संचालन जनवरी 1970 में सरकार द्वारा तत्कालीन प्रदेश एक गजट नोटिफिकेशन से होता आया है. इसमें कई बार बदलाव किए गए. उक्त नोटिफिकेशन में आयोग का नाम अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड दर्शाया गया. इसे दिसंबर 1997 में बदलकर इसका नाम हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग कर दिया.

हेमंत ने बताया हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग 2004 में चौटाला सरकार द्वारा करवाया गया. मार्च 2005 में भूपेंद्र सिंह हुड्डा मुख्यमंत्री बने तब उन्होंने नई विधानसभा के पहले ही सत्र में हरियाणा कर्मचारी आयोग 2005 मे पारित करवाकर उसे कानूनी दर्जा दिलवाया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button