Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
ChandigarhHaryana News

Haryana Panchayat Chunav: पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटा प्रशासन, कभी भी हो सकता है शेड्यूल जारी

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़, Haryana Panchayat Chunav:-  हरियाणा में पंचायतों का चुनाव मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन के साथ ही चुनाव का शेड्यूल कभी भी जारी किया जा सकता है. राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला उपायुक्त और निर्वाचन अधिकारियों को चुनाव की तैयारियों में जुटने के निर्देश दे दिए हैं. ये चुनाव दो चरणों में पूर्ण होने संभावित है. पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्यों के चुनाव एकता और पंच सरपंच के चुनाव एक साथ करवाए जाएंगे.

पंचायतो का कार्यकाल डेढ़ साल पहले हो चुका था ख़त्म 

बता दे कि हरियाणा में पंचायतों का कार्यकाल लगभग डेढ़ साल पहले ही खत्म हो गया था लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते और पंचायती राज संस्थाओं में आरक्षण को लेकर High Court में दी गई चुनौती की वजह से यह चुनाव नहीं करवाए जा सके. लेकिन 5 मई को हाईकोर्ट ने पंचायती चुनाव करवाने के लिए हरी झंडी दे दी थी. तब से लेकर चुनाव आयोग पंचायतों के 71 हजार 763 पदों पर चुनाव करवाने की तैयारियों में लगा हुआ है. इन चुनावों में 22 जिला परिषदों के 411 सदस्य, 143 पंचायत समितियों के 3086 सदस्य, पंच के लिए 62,040 पद, 6226 पद सरपंच के शामिल है.

EVM से करवाए जाएंगे चुनाव 

राज्य चुनाव आयुक्त धनपत सिंह ने सभी आयुक्त को लिखित आदेश दे दिए हैं कि चुनाव में प्रयोग होने वाले प्रशासनिक मशीनरी को दुरुस्त करें ले. उन्होंने बताया कि एक मतदान केंद्र प्रत्येक 1000 मतदाताओं पर बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि अनुभवी स्टॉफ को ही चुनाव ड्यूटी पर लगाया जाए और उनकी मतगणना और चुनाव से संबंधित ट्रेनिंग शुरू कर दी जाए. यह चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) के माध्यम से करवाए जाएंगे. राज्य चुनाव आयोग ने राजस्थान, गुजरात और अन्य क्षेत्रों के लगभग 78 हजार EVM मंगवाई हुई है. पंचों का चुनाव मतपत्र के द्वारा होगा यदि जिले में अतिरिक्त मतपेटियों की आवश्यकता हो तो वह आयोग को इसकी माँग की सूचना भेज सकते हैं.

संवेदनशील अतिसंवेदनशील बूथो को लेकर अलर्ट

जिला निर्वाचन अधिकारी ने आदेश दिए की लूट, हिंसा, बूथ कैपचरिंग जैसी घटनाए होने वाले स्थानों की पहचान की जाए, ताकि इन घटनाओ से निपटने के लिए पहले ही अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की जा सके. साथ ही उन्होंने कहा कि अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था की जाए और किसी भी कर्मचारी की Duty उनके ही पैतृक गांव में ना लगाई जाए. उन्होंने कहा की चुनावी ड्यूटी से जुड़े कर्मचारियों को चिकित्सा अवकाश, चिकित्सा अधिकारी और वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी की लिखित अनुशंसा पर ही मिलेगा. यदि कोई भी कर्मचारी चुनावी ड्यूटी पर अनुपस्थित रहता है तो उसके खिलाफ विभागीय और कानूनी कार्यवाही की जाएगी.

Author Shweta Devi

मेरा नाम श्वेता है. मैं हरियाणा के भिवानी जिले की निवासी हूं. मैंने D.Ed और स्नातक तक की पढ़ाई पूरी कर ली है. वर्तमान में मै Khabri Express पर बतौर लेखक के रूप में कार्य कर रही हूं. मै सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कीम, एजुकेशन और लाइफ स्टाइल से जुड़े विभिन्न कंटेंट जितनी जल्द हो सके पाठको तक पहुंचाने की कोशिश करती हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button