Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana NewsLifestyle

हरियाणा में बेटियों को मिल रहा है खूब प्यार दुलार, लिंगानुपात में काफ़ी सुधार

इस न्यूज़ को शेयर करे:

जींद :- देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ‘ राष्ट्रीय अभियान हरियाणा के पानीपत जिले से शुरू किया था. प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किए गए इस अभियान से हरियाणा की स्थिति बदल गई. लिंगानुपात के मामले में हरियाणा की स्थिति में काफी सुधार आया है. हरियाणा के लोग अब बेटियों को पढ़ा लिखाकर कामयाबी के शिखर तक पहुंचाने में बिल्कुल भी पीछे नहीं रहते.

हरियाणा का जींद जिला लिंगानुपात सुधार के मामले में दूसरे जिलों के लिए प्रेरणा बना है. स्वास्थ्य निदेशालय की ओर से जारी मार्च 2022 तक के आंकड़ों के अनुसार जींद में 1000 हजार लड़कों पर 996 लड़कियों ने जन्म लिया है. जींद पूरे प्रदेश में शीर्ष स्थान पर रहा है. पिछले वर्ष के मुकाबले इस बार 110 ज्यादा लड़कियों ने जन्म लिया है.

बता दें कि पिछले वर्ष जींद जिले का लिंगानुपात 886 था. इस बार पलवल दूसरे तथा भिवानी तीसरे स्थान पर रहा और महेंद्रगढ़ जिला अंतिम स्थान पर रहा है. लिंगानुपात में भले ही जींद जिला प्रदेश में पहले नंबर पर रहा हो, लेकिन प्रदेश में सबसे ज्यादा लड़कियों का जन्म नूंह में हुआ है.

जींद में 2410 लड़कियों ने जन्म लिया, वहीं नूंह जिले में 6280 लड़कियों ने जन्म लिया है. नूंह में इस अवधि में 6725 लड़कों ने जन्म लिया है. इसके चलते ज्यादा लड़कियों के जन्म के बावजूद लिंगानुपात के आंकड़े में पीछे हो गया. सबसे कम बच्चे चरखी दादरी जिले में पैदा हुए. चरखी दादरी में 915 बच्चे पैदा हुए. इसमें से 718 लड़के व 657 लड़कियों का जन्म हुआ.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button