Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Bhiwani News

प्रतिदिन हजारो यात्रियों के बाद भिवानी के इस रेलवे स्टेशन पर कोई सुविधा नहीं, आज भी रेल गाड़ियों के ठहराव का मुँह ताक रहे ग्रामीण

इस न्यूज़ को शेयर करे:

भिवानी :- हरियाणा राज्य के भिवानी जिले में स्थित खरक गांव को आज भला कौन नहीं जानता. खरक गांव में फौज में अफसर से लेकर कलाकार तक कई फेमस हस्तियां आज के वक़्त है. हरयाणवी लोक गायक राजेंदर सिंह खरकिया हो या फिर उनके बेटे दिलेर सिंह खरकिया या फिर फ़ेमस सपना चौधरी के गुरु वीरपाल खरकिया आदि कलाकार खरक गांव में है. यहां तक कि वर्तमान में बवानी खेरा विधान सभा सीट से MLA भी खरक गांव से ही है. भिवानी जिले से 16 किलोमीटर रोहतक की साइड चलने पर और रोहतक की साइड से 20 किलोमीटर भिवानी की साइड चलने पर दोनों जिलों के बीचो बीच बसे खरक गांव में आज के वक्त में 20,000 से ज्यादा वोटों की संख्या है.

पांच से ज्यादा गांव के लोग करते है यात्रा

आपको बता दे कि गांव में 4 पंचायतें है. एक पंचायत खरक खुर्द तथा 3 पंचायतें खरक कला गांव में है. खरक गांव के आसपास भी कई और गांव है, जिनकी सीमा खरक गांव से मिलती है, जैसे रेवाड़ी खेरा, फुल पुरा, बौंद, मालकोश, नीमड़ी, केलंगा आदि गांव है. इतने सारे गांव आसपास होने के बावजूद यहाँ रेलवे की सुविधा सिर्फ खरक गांव में ही है. खरक गांव में रेलवे स्टेशन ना होकर यहां पर एक रेलवे हाल्ट है जहां पर सुविधाओं की बहुत बड़ी कमी है. आसपास के गांव और खरक को मिलाकर हजारों की संख्या में प्रतिदिन रेल से यात्रा करने वालों की संख्या बहुत ज्यादा है. प्रतिदिन यात्रिओ की हज़ारो में संख्या होने बावजूद रेलवे हाल्ट पर यात्रियों को कई परेशानियो का सामना करना पड़ता है.

मूलभूत सुविधा ना होने के कारण भटकना पड़ता है दूसरे रेलवे स्टेशनों पर

आपको बता दें कि खरक गांव वैसे तो जनसंख्या के लिहाज से बहुत बड़ा है और इसके आसपास भी कई गांव लगते हैं, लेकिन रेलवे स्टेशन के नाम पर यहां पर एक रेलवे हॉल्ट है जहां पर सुविधा का अभाव है. लंबी दूरी की ट्रेनें यहां पर नहीं रुकती जिसके कारण दैनिक यात्रियों को बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है. आपको बता दें कि कई ट्रेनों का यहां पर ठहराव नहीं है. यहां पर सिर्फ पैसेंजर ट्रेन ही ठहरती हैं, जबकि खरक हाल्ट से यात्रा करने वालों की संख्या हजारों में है. खरक में कई ट्रैन के ठहराव ना होने के चलते यात्रिओ को दूसरे स्टेशनो पर भटकना पड़ता है.

हाल्ट पर नहीं है शौचालय और पेयजल की सुविधा

हजारों की संख्या में यात्रियों का हर रोज यहां से आवागमन और प्रस्थान होता है, लेकिन उसके बावजूद भी रेलवे की तरफ से यहां पर शौचालय की सुविधा उपलब्ध तो कराई गई है पर शौचालय में साफ़ सफाई की कोई सुविधा नहीं है. इसी लिए यात्री यहाँ टॉयलेट का इस्तेमाल नहीं कर पाते. वही यहां पर पीने के साफ पानी का कोई प्रबंध नहीं किया गया है, जिसके कारण कई बार यहां पर यात्रियों समेत बच्चों को पिने के पानी की परेशानी का सामना करना पड़ता है.

टाइम पर नहीं मिलती टिकट

ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों को कई बार टिकट ना मिलने वाली परेशानी का भी सामना करना पड़ता है. आपको बता दें कि हाल्ट होने के कारण यहां पर ऑनलाइन टिकटिंग की सुविधा अभी उपलब्ध नहीं है. इसी लिए अभी तक यहां पर ठेकेदारों के द्वारा टिकट वितरण की सुविधा उपलब्ध है. टिकट वितरण करने वाला भी ट्रेन आने से 5 या 10 मिनट पहले ही खरक हाल्ट पर पहुंचता है, जिस कारण यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा होने के चलते यात्रियों को टिकट नहीं मिल पाने वाली परेशानी का सामना करना पड़ता है.

Sunny Singh

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम सनी सिंह है. मैं खबरी एक्सप्रेस वेबसाइट पर एडमिन टीम से हूँ. मैंने मास्स कम्युनिकेशन से MBA और दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म का कोर्स किया हुआ है. मैंने ABP न्यूज़ में भी बतौर कंटेंट राइटर काम किया है. फ़िलहाल मैं खबरी एक्सप्रेस पर आपके लिए सभी स्पेशल केटेगरी की पोस्ट लिखता हूँ. आप मेरी पोस्ट को ऐसे ही प्यार देते रहे. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button