Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Haryana News

हरियाणा की इन सडकों पर गाडी चलाने से पहले जान लें ये नया नियम, यहाँ चलाई गाडी तो कटेगा 5500 का चालान

इस न्यूज़ को शेयर करे:

गुरुग्राम :- पिछले काफी समय से रोड पर हादसों की संख्या बढ़ी है. इन सबके बावजूद भी लोग ट्रैफिक के नियमों का पालन करने में कोताही बरत रहे. अब लोगों की जिंदगी बचाने के लिए Traffic Police नियमों का और भी सख्ती से पालन करेगी. जो भी लोग अब Wrong Side वाहन चलाएंगे, उन पर ट्रैफिक पुलिस विशेष नजर रखेगी. अब उन्हें 10 गुना से भी अधिक Challan भरना पड़ सकता है.

रॉन्ग साइड वाहन चलाने पर 5500 रुपए का Challan 

रॉन्ग साइड ड्राइविंग करने पर आपको 500 रूपये के चालान का भुगतान करना होगा. वही खतरनाक ड्राइविंग करने पर आप पर 5000 रूपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है. दोनों को मिलाकर कुल 5500 रुपए का चालान किया जा सकता है. पिछले कुछ महीनों से हादसों पर रोक लगाने के लिए ट्रैफिक पुलिस की सक्रियता बढी है, परंतु इसका असर अभी तक दिखाई नहीं दे रहा है. वही लगातार चालान के आंकड़ों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है.

ये होगा जुर्माना

  • ड्राइविंग लाइसेंस नहीं – 5000 रूपये
  • रॉन्ग साइड पार्किंग – 500 रूपये
  • बिना हेलमेट -1000 रूपये
  • बिना सीट बेल्ट – 1000 रूपये
  • नंबर प्लेट गलत – 3000 रूपये
  • खतरनाक ड्राइविंग -5000 रूपये

चालान के बावजूद लोग नहीं कर रहे नियमों का पालन 

रोड पर दिनभर ट्रैफिक पुलिस चालान बुक लेकर दिखाई देती है. इसके बाद भी लगातार लोग ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं. बता दें कि रॉन्ग साइड ड्राइविंग, रेड लाइट जंप, रॉन्ग साइड पार्किंग की शिकायतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही. हजारों रुपए के चालान के बाद भी ओवरस्पीड पर भी नियमों के तहत लगाम नहीं लग पा रही.

Author Meenu Rajput

नमस्कार मेरा नाम मीनू राजपूत है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर बतौर कंटेंट राइटर काम करती हूँ. मैंने बीकॉम, ऍम कॉम तक़ पढ़ाई की है. मैं प्रतिदिन हरियाणा की सभी ब्रेकिंग न्यूज पाठकों तक पहुंचाती हूँ. मेरी हमेशा कोशिश रहती है कि मैं अपना काम अच्छी तरह से करू और आप लोगों तक सबसे पहले न्यूज़ पंहुचा सकूँ. जिससे आप लोगों को समय पर और सबसे पहले जानकारी मिल जाए. मेरा उद्देशय आप सभी तक Haryana News सबसे पहले पहुँचाना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button