Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Mandi Bhav

गेहूं के बाद अब चावल की कीमतों में उछाल, किसानो के लिए चावल बन सकता है सोना

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- पिछले कुछ दिनों में गेहूं की कीमतों में हमें वृद्धि देखने को मिली थी, पर अब चावल की कीमतों ने भी आसमान को छू लिया है. एक के बाद एक उपभोक्ता की जेब ढीली होने की संभावना दिखाई दे रही है. इससे जनता का बजट पूरी तरह हिल गया है. पर इसी के साथ केंद्र सरकार ने एक ऐलान किया है. जिससे जनता को राहत भरी सांस मिली है.

केंद्र सरकार करेगी मदद

जहां आम जनता इस खबर को सुनने के बाद परेशान है. वहीं केंद्र से जनता को राहत भरी सांस मिली है. केंद्र के पास 396 लाख टन चावल का विशाल भंडार है. जो आम जनता की परेशानी बजट को लेकर है, उसे सुलझाने में काफी मदद करेगा. ये कीमतों को Control करने में काफी मददगार साबित हो सकता है.

चावल के दामों में क्यों दिखा उछाल? 

ये बात तो हम बहुत समय से सुन ही रहें है कि धान की फसल की बुवाई में कमियां लगातार देखने को मिल रही हैं. इससे चावल की आपूर्ति को लेकर जनता में चिंता पैदा हो गई है. इसलिए गेहूं के बाद अब चावल की कीमतों में भी वृद्धि देखने को मिल रही है. आम जनता के लिए ये एक दुखद खबर है.

गेहूं के रेट भी बढ़े

22 अगस्त को समाचार एजेंसी PTI की रिपोर्ट के अनुसार हमें पता चला कि पिछले साल इस समय तक गेहूं का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 25.41 रुपये Per Kg था. जबकि अब लगभग 22 % से बढ़कर 31.04 रुपये प्रति Kg हो गया है. वहीं पिछले साल इस समय के दौरान आटे का औसत खुदरा भाव 30.04 रुपये Per Kg था. परंतु इस साल गेहूं की कीमतें बढ़ने के कारण इसकी कीमत 17% से बढ़कर 35.17 रुपये प्रति किलो हो गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button