Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Government SchemeHaryana News

हरियाणा: सरकार दे रही हर तरह की मदद, बेटी की शादी में इस वर्ग को मिल रहा 51000 रुपये का कन्यादान!

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ : हरियाणा सरकार (Haryana Government)  द्वारा दावा किया गया है कि राज्य में श्रमिकों की आर्थिक स्थिति बेहतर हुई है. इसके लिए कई कदम उठाए गए हैं. सरकार की मानें तो हरियाणा भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत 714.14 करोड़ रुपये बाटी गई है जिससे मजदूरों की सहायता हो सके.

हरियाणा श्रम कल्याण बोर्ड की ओर से 134.57 करोड़ रुपये श्रमिकों को वितरित किये गये हैं. यह राशि सीधे श्रमिकों के बैंक खातों में भेजी गई है. उनका कहना है कि फिल्म मेहनतकश मजदूरों की वजह से ही आज हरियाणा अग्रणी राज्य बना हुआ है. इन्हीं के कारण आज हरियाणा प्रगति के रास्ते पर अग्रसर है.

हरियाणा में कई तरह की योजनाएं

प्रवक्ता ने बताया कि राज्य में प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन योजना के तहत असंगठित श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है, जिसमें पूरे देश में हरियाणा असंगठित मजदूरों के पंजीकरण में पहले स्थान पर है. कोविड-19 के चलते सरकार द्वारा घोषित वित्तीय पैकेज के अनुसार हरियाणा भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा 30 मार्च, 2020 से निर्माण श्रमिकों के परिवारों को हजार रुपए प्रति सप्ताह कि 5 किस्तें सीधे मजदूरों के बैंक खातों में भेजी जाती है.

राज्य के स्थानीय उम्मीदवारों का राज्य रोजगार विधेयक- 2020 पास किया गया है. इसके तहत हरियाणा के स्थानीय उम्मीदवारों को हरियाणा में स्थित अलग अलग स्थानीय कंपनियों, सोसाइटी, ट्रस्ट, लिमिटेड देयता,भागीदारी फर्म और साझेदारी फर्म में 10 सालों के लिए 75 फ़ीसदी आरक्षण 15 जनवरी 2022 से शुरु हो चुका है.

प्रवक्ता के मुताबिक प्रदेश के श्रम विभाग पोर्टल पर लगभग 27 हजार कारखानों के लगभग 21 लाख 44 हजार श्रमिक रजिस्टर्ड हैं. इसके अलावा 3 लाख 55 हजार संस्थानों में 27 लाख 49 हजार श्रमिक पंजीकृत हैं. इसी प्रकार केन्द्र सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर राज्य के लगभग 50 लाख श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन हुआ है.

कन्यादान में सहायता

इसके अतिरिक्त , मुख्यमंत्री महिला निर्माण श्रमिक सम्मान योजना के तहत सभी पंजीकृत श्रमिक बहनों को कपड़ों और उनकी व्यक्तिगत जरूरत के लिए 5100 रुपये की सालाना आर्थिक राशि भी उपलब्ध कराई जाती है. महिला श्रमिकों को प्रसूति के लिए 10 हजार रुपये की वित्तीय सहायता दी जाती है. श्रमिक परिवारों को कन्यादान स्कीम के तहत तीन बेटियों की शादी तक हर शादी में 51 हज़ार रुपए कन्यादान के रूप में दिए जाते है.इसी तरह बेटे व खुद की शादी में भी 21 हज़ार रुपए शगुन के रूप में दिए जाते है.

श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा के लिए पहली कक्षा से स्नातक तक 8 हजार रुपये से लेकर 20 हजार रुपये वार्षिक तक की आर्थिक सहायता मजदूरों कों मिल रही है. तकनीकी व व्यवसायिक संस्थानों में पढ़ रहे मजदूरों के बच्चों के लिए हॉस्टल का 1 लाख 20 हज़ार का खर्चा भी सरकार उठा रही है. सरकारी संस्थानों में मेडिकल, इंजीनियरिंग, प्रबंधन इत्यादि की शिक्षा ले रहे श्रमिकों के बच्चों की कोचिंग के लिए 20 हजार रुपये तक और UPSC एवं HPSC की मुख्य परीक्षा के लिए 1 लाख रूपये की धनराशि दी जाती है.

बुज़ुर्गो कों पेंशन

प्रवक्ता ने जानकारी दी कि श्रमिक के साथ दुर्घटना होने पर बोर्ड द्वारा तुरंत आर्थिक सहायता दी जाती है. बोर्ड द्वारा श्रमिक की दिव्यांगता पेंशन 3,000 रुपये करदी गई है,तथा 60 वर्ष आयु के बाद 1000 रुपए अतिरिक्त सहायता राशि दी जाती है. कार्य के दौरान दुर्घटना में मौत होने पर श्रमिक के परिवार को 5 लाख रुपये तक की राशि दी जाती है.

मुख्यमंत्री श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में जो श्रमिक पंजीकृत नहीं है उसकी मृत्यु होने पर उसके अंतिम संस्कार के लिए 15 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाती है. भवन निर्माण और उद्योगों में कार्यरत श्रमिकों के फेफड़े सिलीकोसिस की भयंकर बीमारी से ग्रस्त होते हैं, उनके लिए वर्ष 2017 से विशेष योजना लागू की गई है. जिसके अनुसार प्रभावित श्रमिक के पुनर्वास हेतु 5 लाख की आर्थिक सहायता दी जाती है.

मृत्यु के बाद भी श्रमिक के परिवार को इस योजना के तहत 1 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जाती है. अब तक 23 करोड़ 37 लाख रुपये की राशि प्रदान की गई है.  भवन निर्माण और उद्योगों में कार्य करने वाले पंजीकृत श्रमिकों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं के लाभ डी.बी.टी. के माध्यम से दिए जा रहे हैं. श्रमिकों को इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए अंत्योदय सरल केंद्रों, अंत्योदय भवन और राज्य के कसक सेंटर्स के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवाना होता है.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button