Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Education

School Holiday: अब स्कूलों में महीने के तीसरे शनिवार को भी रहेगी छुट्टी, जाने कहा- कहा नियम होगा लागु

इस न्यूज़ को शेयर करे:

शिक्षा जगत :- सरकारी स्कूलों में अब हर महीने के तीसरे शनिवार को अवकाश रहेगा. अन्य शनिवार को पूरे समय के लिए स्कूल खुलते रहेंगे. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव राजेश शर्मा ने इस बारे में आदेश जारी किये है. शिक्षक संघों की मांग पर यह नई व्यवस्था लागू हुई है. राज्य के सभी सरकारी स्कूल पांच सितंबर 2007 से प्रत्येक शनिवार को सुबह आठ बजे से 11 बजे (गर्मी के दिनों में Morning Session में प्रत्येक शनिवार को सुबह साढ़े छह बजे से साढ़े नौ बजे तक) तक खुलते थे.

अन्य दिनों में स्कूल सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक खुलते थे. लेकिन बच्चों के शिक्षण अधिगम में सुधार के लिए उनके सीखने के समय में बढ़ोतरी और निशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 द्वारा निर्धारित शिक्षण दिवसों की अनिवार्यता को लागू करने को लेकर दो नवंबर 2021 को अधिसूचना जारी कर हर शनिवार को झारखंड राज्य में पूर्ण कार्य दिवस की घोषणा की गई. अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के साथ कई संघों ने शिक्षा सचिव से केंद्रीय विद्यालय की तर्ज पर प्रत्येक महीने कम से कम एक शनिवार को छुट्टी निर्धारित करने का अनुरोध किया था. इसपर विचार करने के बाद दो नवंबर, 2021 को जारी अधिसूचना को संशोधित करते हुए प्रत्येक माह के तीसरे शनिवार को स्कूलों में छुट्टी लागू करने का फैसला लिया गया.

सभी पदाधिकारी, कर्मचारी घरों में फहराएं तिरंगा : मुख्य सचिव

उधर, सभी विभागों व कार्यालयों में कार्य कर रहें पदाधिकारी, कर्मचारी, अनुबंध कर्मचारी 13 से 15 अगस्त तक ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के तहत अपने-अपने घरों में तिरंगा झंडा फहराएं. राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने इसे लेकर सभी विभागाध्यक्षों, आयुक्तों, उपायुक्तों आदि को पत्र भेजकर इसे सुनिश्चित कराने के लिए जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए है. उन्होंने केंद्रीय गृह सचिव द्वारा भेजे गए पत्र को ध्यान में रखते हुए हाल ही में भारतीय झंडा संहिता, 2002 में हुए संशोधन तथा राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971 की जानकारी देते हुए इसका अनुपालन भी कराने के लिए बोला.

दिन हो या रात फहरा सकते हैं तिरंगा

हाल ही में देश की झंडा संहिता में किए गए संशोधन के अनुसार अब नियम के तहत तिरंगा दिन और रात दोनों समय फहराया जा सकेगा भारतीय झंडा संहिता, 2002 के भाग-दो के पैरा 2.2 के खंड (11) में हुए संशोधन में कहा गया है कि, ‘जहां झंडा खुले में प्रदर्शित किया जाता है या किसी नागरिक के घर पर प्रदर्शित किया जाता है, इसे दिन-रात फहराया जा सकता है.’ इससे पहले, तिरंगे को केवल सूर्योदय से सूर्यास्त तक फहराने की स्वीकृति थीं.

साथ ही अब Polyester और मशीन से बने तिरंगा का भी प्रयोग किया जा सकता है। ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के तहत भारत सरकार ने 13 से 15 अगस्त तक ‘हर घर तिरंगा अभियान’ शुरू करने का फैसला लिया है, जिसके तहत यह संशोधन किया गया है. इधर, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्य सरकार को भेजे गए पत्र में कहा है कि भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का फहराना और उपयोग भारतीय झंडा संहिता, 2002 और राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971 के अंतर्गत है.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button