Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
EducationHaryana News

गरीब बच्चो की बल्ले बल्ले: 134A के दाखिले जल्द होंगे शुरू, सरकार ने स्कूलों से माँगा खाली सीटों का बयौरा

इस न्यूज़ को शेयर करे:

सोनीपत:- नियम 134A के अंतर्गत निजी स्कूलों मेें दाखिलों के लिये एक ओर तो अभिभावक लगातार धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर प्राइवेट स्कूल पहले ही दाखिलों के लिए मना कर चुके हैं. अब इस मामले में सरकार ने नई योजना तैयार की है. नई योजना के तहत नियम के तहत 1.80 लाख रुपये से कम वार्षिक आय के परिवार वाले बच्चों को दाखिला दिया जाएगा. हालांकि इन दाखिलों के लिए निजी स्कूलों से सहमति ली जाएगी. सरकार निजी स्कूलों से सहमति लेकर ही दाखिले करवाएगी.

इसके अतिरिक्त नियम 134-ए के तहत दाखिला पाने वाले बच्चों की फीस सरकार ही देगी और जितनी फीस निजी स्कूल अन्य बच्चों से ले रहा है, उतनी ही फीस सरकार द्वारा इन बच्चों की दी जाएगी. जो निजी स्कूल इस नियम के तहत पात्र विद्यार्थियों को दाखिला देने के इच्छुक हैं, उन्हें पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके लिए विभाग की ओर से एक पोर्टल तैयार किया गया है. निदेशालय मौलिक शिक्षा हरियाणा ने प्राइवेट स्कूलों को पोर्टल पर पंजीकरण कराने के लिए 30 अप्रैल तक का समय दिया है. निजी स्कूलों को इस अवधि तक पंजीकरण कराने के साथ ही निर्धारित सीटों की सूचना भी देनी होगी.

सोनीपत में 1100 विद्यार्थी रह गए वंचित

पिछले वर्ष की नियम 134-ए की प्रक्रिया शैक्षणिक सत्र के बीच में शुरू हुई थी. रूल 134-ए की ऐडमिशन प्रोसेस में करीब 1100 विद्यार्थी आज भी दाखिले से वंचित हैं. इन विद्यार्थियों के अभिभावक छात्र अभिभावक संघ के नेतृत्व में चार महीनों से कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं. यही नहीं एक सप्ताह से जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर पात्र विद्यार्थियों के दाखिले की मांग को लेकर धरना भी दिया जा रहा है. शिक्षा विभाग ने पत्र जारी किया है, जिसके अनुसार जिन परिवारों की वार्षिक आय परिवार पहचान पत्र में 1.80 लाख रुपये या इससे कम है उन विद्यार्थियों को दूसरी से 12वीं कक्षा तक निजी स्कूलों में दाखिला दिलाया जाएगा. इसके लिए निजी स्कूलों की सहमति ली जाएगी. जो निजी स्कूल दाखिला देने पर सहमत होंगे उन्हें शिक्षा विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

प्राइवेट स्कूलों से मांगी सहमति

सोनीपत जिला शिक्षा अधिकारी बिजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि निजी स्कूलों में आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को निजी स्कूलों में दाखिला दिलवाने के लिए योजना बनाई गई है इसके लिए निजी स्कूलों से सहमति की मांग भी की है. निदेशालय के जारी निर्देशों के अनुसार निजी स्कूलों को पोर्टल पर पंजीकरण करने के साथ ही निर्धारित सीटों का ब्यौरा उपलब्ध कराना होगा.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button