Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Education

हरियाणा के सरकारी स्कूलों मे अध्यापकों के 35,980 पद खाली, विधानसभा मे खोला लेखा जोखा

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- हरियाणा राज्य में Covid का कहर कम होने के बाद स्कूलों में नियमित पढ़ाई शुरू हो गई है. और अब स्कूल की वार्षिक परीक्षाएं भी नजदीक हैं लेकिन सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के लगभग एक तिहाई पद खाली हैं. इससे शिक्षण कार्य बाधित हो रहा है. इस समस्या से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने स्थायी भर्ती होने तक शिक्षकों को अनुबंध के आधार पर रखने की योजना बनाई है. यह संविदा भर्ती कौशल रोजगार निगम पोर्टल (Kaushal Rojgar Nigam Portal) के माध्यम से की जाएगी.

TGT और PGT के रिक्त पदों को लेकर विधानसभा में उठा मुद्दा

वर्तमान में हरियाणा के शिक्षा विभाग में शिक्षकों के 32 प्रतिशत पद रिक्त हैं. इनमें से ज्यादातर टीजीटी (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पद खाली हैं. इतना ही नहीं स्वीकृत पदों की तुलना में रिक्तियां लगातार बढ़ती जा रही हैं. विधानसभा में भी लगातार मुद्दा उठता रहा है. शिक्षा विभाग में नियमित भर्ती नहीं होने से स्कूलों में शिक्षकों की कमी लगातार बढ़ती जा रही है. टीजीटी के अधिकतम 55% पद खाली हैं. शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए रोजगार कौशल निगम को अनुबंध के आधार पर शिक्षकों की भर्ती करने की जिम्मेदारी दी गई है. यह भर्ती नए सत्र में शुरू होगी.

Kaushal Rojgar Nigam के तहत भर्ती प्रक्रिया हुई चालू 

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने बताया कि स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से स्थायी भर्ती प्रक्रिया चल रही है. नियमित भर्ती प्रक्रिया होने तक कौशल रोजगार निगम के माध्यम से संविदा के आधार पर शिक्षकों की भर्ती की जाएगी ताकि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो. अनुबंध के आधार पर यह भर्ती नए शैक्षणिक सत्र से शुरू होगी, इस भर्ती से संबंधित पूरी गाइड लाइन जल्द ही कौशल रोजगार निगम की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी की जाएगी जिसकी जानकारी आपको इस पोस्ट के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी.

रिक्त पदों की सूची इस प्रकार

  1. पद रिक्त पद
  2. प्रिंसिपल : 391
  3. मुख्य शिक्षक : 262
  4. पीजीटी : 13,517
  5. टीजीटी : 16,985
  6. पीआरटी : 4828
  7. कुल पद : 35,980

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button