Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
New Delhi

पूरे देश में अब ‘भारत’ नाम से मिलेगी सब्सिडी वाली खाद, सरकार के इस बड़े फैसले से कंपनियां नाराज

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला. मोदी सरकार अब पूर देश में ‘एक देश, एक फर्टिलाइजर’ योजना को  लागू करने जा रही है. यह योजना 2 October 2022 से लागू होगी. इस योजना के तहत सभी प्रकार के खाद एक ही ब्रांड यानी के ‘भारत’ नाम से बेचे जाएंगे. इस योजना का मकसद   देश भर में फर्टिलाइजर ब्रांड्स में समानता लाना है.  हाल ही में सरकार ने सभी कंपनियों को यह आदेश जारी किया है कि वेेे सभी अपने उत्पादों को ‘भारत’ नाम के ब्रांड से ही बेचें .

ऐसे मिलेगी खाद

सरकार द्वारा इस योजना के लागू होने के बाद तमाम तरह के खाद जैसे Uria, DAP- Di-Ammonium Phosphate, म्यूरेट ऑफ पोटास और एनपीके सहित सभी खाद भारत ब्रांड के नाम के साथ  ही बिकेंगे. अब आप ‘भारत Urea’, ‘भारत DAP’, ‘भारत MOP’ और ‘भारत NPK’ के नाम से ही इन खादों को बाजार में देख पाएंगे. इस योजना के अनुसार चाहे प्राइवेट हो, सरकारी हो या फिर पब्लिक सेक्टर सभी Company को अपने माल पर ‘भारत’ ब्रांड नाम दर्ज करना होगा.

योजना का लोगो भी लगाना होगा जरूरी 

इस योजना के तहत कंपनियों को खाद की बोरी पर  केवल भारत ब्रांड नाम ही नहीं देना होगा, बल्कि “प्रधानमंत्री भारतीय जनउर्वरक परियोजना” का लोगो भी बैग पर लगाना होगा. इस Project के तहत ही सरकार खाद पर सब्सिडी देती है. इस Bag पर कंपनी को अपना नाम छोटे अक्षरों में छापना होगा. सरकार ने कंपनियों को यह भी आदेश दिया है कि खाद कंपनियां 15 सितंबर के बाद पुराने बैग नहीं खरीद पाएंगी. कंपनियों को पुराने डिजाइन के बैग Market में वापस जमा करने के लिए 12 दिसंबर तक का समय दिया गया है.

कंपनियों की नाराजगी 

सरकार की इस योजना से खाद कंपनियां नाराज हो गई हैं. उनका कहना है कि सभी कंपनियों के माल को अगर एक ही ब्रांड Name दिया जाऐगा तो उनकी Brand Value खत्‍म हो जाएगी. यह कंपनियां किसानों तक अपने माल को पहुंचाने के लिए अनेक प्रलोभन देती हैं. जिससे की दूसरी कंपनियों के मुकाबले में उनके ब्रांड को प्रमुखता मिल सके, अगर ब्रांड नेम एक हो जाएगा तो उनको अपने माल का प्रचार करने में परेशानी का सामना करना पड़ेगा.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश द्वारा उठाए गए सवाल

कांग्रेस के महासचिव जयराम रमेश ने इस योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने आप का प्रचार करने के लिए जो कुछ भी किया है उससे हमें आश्‍चर्य नहीं होना चाहिए. वही इस पर रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि मोदी सरकार ने 2014 से अब तक खाद का बजट 25 फीसदी तक कम कर दिया है.

Author Romiyo

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम रोमियो परमार है. मैं खबरी एक्सप्रेस पर 2022 से बतौर कंटेंट राइटर का काम कर रही हूँ. मैंने बी.ए, एम.ए तक पढ़ाई की है. मैं सभी पाठकों तक लाइफस्टाइल से जुड़ी हुई खबरें पहुंचाती हूँ. आप तक हर खबर सही और सबसे पहले पहुंचे यही मेरा सर्वोत्तम उद्देशय है. मैं अपनी पूरी लगन और मेहनत से आप तक हर खबर पहुंचने में तत्पर हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button