Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
New Delhi

60 रुपये में करें ये काम, वर्ना लगेगा 10000 जुर्माना, दिल्ली पुलिस का ये मैसेज मत करें इग्नोर

इस न्यूज़ को शेयर करे:

नई दिल्ली :- दिल्ली की सड़कों पर अपने वाहन से फर्राटे भरने वालों के लिए खास खबर है. आजकल दिल्ली की Traffic Police लोगों से पूछ रही है कि आप 60 रुपये खर्च करेंगे या 10 हजार रुपये भरेंगे या फिर अपने फेफड़े को खराब करना चाहेंगे. दरअसल,  पुलिस ये सवाल Social Media पर Pollution Certificates की अहमियत समझाने और लोगों को इसे बनवाने के लिए प्रेरित करने के लिए पूछ रही है.

लोगों से पूछ रहे ये बड़ा सवाल

सबसे पहले हम बात करते हैं दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के द्वारा किए गए Tweet की. यह ट्वीट 26 September को किया गया है, जिसमें सबसे पहले पॉल्यूशन सर्टिफिकेट बनावाने का खर्च बताया गया है. जिसकी कीमत 60 रुपये से 100 रुपये के बीच है. इसके बाद पुलिस ने PUCC न होने पर 10 हजार रु के चालान के बारे में बताया है. इसके साथ ही तीसरे Number पर फेफड़ों की बीमारी के बारे लिखा है. इसके बाद पुलिस ने आगे लिखते हुए यह पूछा है, कि ‘आप इसे कैसे Pay करना चाहते हैं.’

बताई PUCC की अहमियत

बता दें कि ट्रैफिक पुलिस ने लोगों को पॉल्यूशन सर्टिफिकेट की अहमियत को समझाने के लिए दो अलग- अलग Photo भी Share की हैं. इनके Captions में पर्यावरण को लेकर लोगों की मानसिकता को दर्शाया गया है. इसके साथ ही यह भी समझाया गया है कि अपने वाहन का पॉल्यूशन Level चेक कराते रहना चाहिए. ध्यान देने योग्य बात यह है कि वाहन चलाते समय चालक के पास Drawing License, RC, Vehicle Insurance इसके अलावा पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट होना भी जरू है.

जुर्माने के साथ- साथ जेल का प्रावधान भी 

आज के दौर में चाहे सस्ती गाड़ी हो या फिर महंगी, ट्रैफिक पुलिस चेकिंग के दौरान अन्य जरूरी दस्तावेजों के साथ पॉल्यूशन सर्टिफिकेट की मांग जरूर करती है और इसके न होने पर चालक पर जुर्माना भी लगाया जाता है. केंद्र की तरफ से लागू Motor Vehicle Act में इस सर्टिफिकेट के न होने पर भारी- भरकम जुर्माने  का प्रावधान किया गया है. जोकि 10 हजार रुपये तक हो सकता है. इसके अलावा नियम के मुताबिक, कारावास का भी प्रावधान भी है, या फिर जुर्माना और जेल दोनों भी हो सकते हैं.

अलग- अलग अवधि के लिए है वैलिड

बता दें कि अगर ऐसे में आप दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की इस चेतावनी को हल्के में लेते हैं तो ये आप पर भारी पड़ सकता है. आमतौर पर पॉल्यूशन कंट्रोल सर्टिफिकेट वाहन के प्रकार और Fuel Type के अनुसार बनता है. यह जुर्माना 60 रुपये से लेकर 100 रुपये तक में बनाया जाता है. बता दें कि नए वाहन के लिए PUC सर्टिफिकेट की Validity 1 साल और पुराने वाहन के लिए 6 महीने की होती है. इसकी अवधि खत्म होने के बाद Renew कराना पड़ता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
PAK VS NZ T20 WC 2022 Playing 11: सेमाीफाइनल मुकाबले में ऐसी हो सकती है न्यूजीलैंड और पाकिस्तान की प्लेइंग 11 ये हैं भारत की सबसे ज्यादा फीचर्स वाली टॉप-5 सीएनजी कारें, Top CNG Cars ICC T20 World Cup 2022: India vs England सेमीफाइनल मुकाबले से पहले बुरी खबर, यह स्टार खिलाड़ी हुआ चोटिल