Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Chandigarh

सर्दियों में दिल्ली में नहीं जाएगी हरियाणा रोडवेज की ये बसें, दिल्ली सरकार ने लगाई रोक

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- दिल्ली में लगातार प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है जिससे आम जन स्वास्थ्य इसके चपेटे में आता नज़र आ रहा है. सर्दियों में स्मॉग से लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ जाता है. इसे नजरंदाज ना करते हुए Delhi Government ने इस पर Objection किया है, और बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम  को लेकर कड़ा फैसला किया है. चलिए जानिए क्या है दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला……

दिल्ली सरकार ने लिखा पत्र

दिल्ली सरकार ने वातावरण को सुरक्षित रखने के इरादे से और प्रदूषण को बढ़ते हुए देख सभी बातों को मद्देनजर रखते हुए हरियाणा और अन्य राज्यों को पत्र लिखा है. उसमें उन्होंने सर्दियों के दौरान पुरानी Diesel बसें दिल्ली नहीं भेजने को कहा था. इसे देखते हुए Haryana सरकार राज्य में ही पुरानी डीजल बसें चलाएगी. Roadways के बेड़े में 2000 से अधिक BS-IV बसें हैं, जिनमें से अधिकांश ने अपना बुक वैल्यू पूरा कर लिया है. किलोमीटर योजना के तहत BS-6 मानक की 700 बसें चल रही हैं.

राजधानी दिल्ली में सिर्फ़ ये बसें जाएगी

परिवहन विभाग ने फैसला लिया है कि अब Haryana Roadways की पुरानी बसें सर्दियों में दिल्ली नहीं जाएंगी. प्रदूषण फैलाने वाली श्रेणी में बीएस-4 मानक की बसें आ गई हैं. इसे देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी में सिर्फ बीएस-6 बसें ही जाएगी.

अब 26 से बढ़कर 70 बसों की होगी व्यवस्था

परिवहन विभाग के पास इन मानकों की केवल 26 बसें हैं. लोगों को सुविधा को ध्यान में रखते हुए विभाग ने October के End तक इनकी संख्या बढ़ाकर 70 से ऊपर होने की उम्मीद दिखाई है. सर्दियों में जब दिल्ली में स्मॉग बढ़ेगा तो चंडीगढ़ और राज्य के अलग-अलग शहरों से सिर्फ ये नई बसें चलेंगी.

अब होंगी 52 की बजाय 56 सीटें  

अभी दिल्ली में 24 Roadways Depo, 13 सब डिपो से Daily लगभग 900 बसें चलती हैं. परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा का कहना है कि नई बसें बनाने का काम तेजी से चल रहा है. आने वाले महीनों में Delhi Route पर सिर्फ़ New Buses भेजी जाएंगी. नई बसों में 52 की जगह 56 सीटें हैं.

809 नई BS-6 Buses बनाने पर काम चालू

Haryana Roadways Engineering Corporation में 809 नई BS-6 बसों के निर्माण का कार्य चल रहा है. 105 टाटा और 124 लीलैंड कंपनी चेसिस आ चुकी हैं, जिनमें से 21 लीलैंड और 5 टाटा बसें डिपो को भेजी जा चुकी हैं. Tata की एक बस पंचकूला, 4 अंबाला, 4 लीलैंड बसें भिवानी, 6 बसें चरखी दादरी और गुरुग्राम, और बसें 5 रोहतक डिपो को मिली हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button