Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Chandigarh

लोहागढ़ को मिलेगा नया स्वरूप, ऐतिहासिक धरोहर को पुनर्जीवित करेगी मनोहर सरकार

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर ने आजादी के अमृत महोत्सव के तहत बाबा बंदा सिंह बहादुर की ऐतिहासिक स्थली लोहागढ़ में कई विकास कार्यों का शिलान्यास करेंगे. CM ने बाबा बंदा सिंह बहादुर की शौर्य गाथा, उनके त्याग और बलिदान की कहानी को पूरे विश्व में फैलाने के लिए लोहागढ़ को नया स्वरूप प्रदान करने का फैसला लिया है. CM चाहते हैं कि आने वाले समय में भावी पीढ़ियां इन ऐतिहासिक धरोहरों से शहीदों की कुर्बानी को याद कर सके और उनकी कहानी को जान सके. इससे आने वाले पीढ़ियों में देशभक्ति की भावना पैदा होगी.

20 एकड़ में स्मृति स्थल का किया जाएगा विस्तार  

CM ने 1 January 2023 को लोहागढ़ में स्थित बाबा बंदा सिंह बहादुर की ऐतिहासिक स्थली पर विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास करेंगे. इसके अलावा इस स्थान पर एक अत्याधुनिक संग्रहालय का भी शिलान्यास किया जाएगा. इस संग्रहालय में बाबा के जन्म से लेकर अंतिम दिनों तक का संपूर्ण जीवन का सार दिखाया जाएगा. इस परियोजना को अलग-अलग चरणों में विकसित किया जाएगा. इसके पहले चरण में चारदीवारी, किला और मुख्य गेट लगाने का कार्य किया जाएगा. इसके अलावा 20 एकड़ में लोहागढ़ में स्थित स्मृति स्थल का विस्तार किया जाएगा.

अलग- अलग चरणों में किया जाएगा पूरा करें  

इस संग्रहालय में बाबा बंदा सिंह बहादुर के संपूर्ण जीवन को दर्शाने के लिए एक Multimedia Show आयोजित होगा. संग्रहालय की Gallery-1 में बाबा बंदा सिंह बहादुर की जीवन गाथा जो जम्मू में उनके युवावस्था से शुरू होकर नांदेड में समाप्त होती है. जबकि Gallery-2 में बाबा के शासन को बहु स्तरीय Screen पर दिखाया जाएगा. इसमें बाबा बंदा बहादुर के अनुयायियों को मुगलों के खिलाफ उनके साथ जोड़कर हथियार उठाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं.

बाबा बंदा सिंह बहादुर की प्रभावशाली अभियान का वर्णन 

Gallery- 2 में पंजाब में बाबा बंदा सिंह बहादुर के प्रभावशाली अभियान और सिदोरा में उनकी अंतिम जीत के बारे में बताया गया है. इस कहानी का अंत सिख राज्य की स्थापना के साथ लोहगढ़ की राजधानी के रूप में होता है. जबकि परियोजना- 2 में उनकी विशालकाय प्रतिमा की स्थापना के लिए एक वैश्विक डिजाइन प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी.वही Gallery- 3 में बंदा बहादुर के अंतिम जीवन घटनाओं को शामिल किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button