Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Chandigarh

महिला सशक्तिकरण पर मिशन मोड पर काम करेगा हरियाणा, आंगनवाड़ियों में भर्ती प्रक्रिया जल्द होगी शुरू

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- हरियाणा महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) एक्सकी दिशा में विभिन्न मंत्रालयों विशेषकर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की जाने वाली योजनाओं के संबंध में मिशन मोड में काम करेगा. इसके लिए हरियाणा के महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी को आश्वासन दिया कि हरियाणा पहले की तरह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा.

आंगनवाड़ी

स्मृति जुबिन ईरानी ने महिला सशक्तिकरण को लेकर क्या कहा

उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों के साथ महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा योजनाओं की समीक्षा बैठक में हरियाणा नागरिक सचिवालय राज्य मंत्री कमलेश ढांडा ने विभाग की प्रस्तुति दी. केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने मिशन शक्ति, मिशन वात्सल्य और मिशन सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 को लागू करने के लिए उठाए जा रहे कदमों पर चर्चा करते हुए कहा कि इन योजनाओं को महिला सशक्तिकरण की दिशा में प्रभावी ढंग से लागू किया जाना चाहिए. इसके लिए हर स्तर पर न सिर्फ समीक्षा की जाएगी बल्कि मिशन Mode में काम किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने कहा कि केंद्र सरकार महिला सशक्तिकरण से जुड़ी सभी योजनाओं और भविष्य में शुरू होने वाली योजनाओं को चला रही है. इसके लिए केंद्र, राज्य से लेकर जिला स्तर तक पूरी व्यवस्था को हब के रूप में विकसित किया जाएगा. उन्होंने इसके लिए जल्द से जल्द एक Nodal खाता खोलने के निर्देश दिए.

हरियाणा में उठाया नया कदम

महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि हरियाणा लोक सेवा आयोग और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को हरियाणा में महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी की भर्ती के लिए Supervisor भर्ती की मांग भेजी गई है. उन्होंने कहा कि आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को Anganwadi केन्द्र स्तर पर अपना काम आसान बनाने के लिए ई-जेएएम Portal के माध्यम से खरीद की प्रक्रिया शुरू की जा रही है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में जहां जिला परिषद के माध्यम से शौचालय एवं पेयजल आपूर्ति व्यवस्था के लिए धनराशि खर्च नहीं की गई है, वहां के आंगनबाडी केंद्रों के संबंध में पंचायत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये हैं.

कुछ आवश्यक निर्देश

उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के तहत अब पैसा राज्य सरकार की निगरानी में खर्च किया जाएगा, पहले यह पैसा सीधे जिले को भेजा जाता था. उन्होंने कहा कि इससे अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन में तेजी आएगी. बैठक में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव इंदीवर पांडे ने अधिकारियों को मिशन शक्ति, मिशन वात्सल्य और Mission सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए. इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के आयुक्त एवं सचिव अमनीत पी कुमार, निदेशक हेमा शर्मा भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button