Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Chandigarh

हरियाणा में दूर भेजे गए अध्यापकों का घर के पास होगा तबादला, अनुबंध और अतिथि अध्यापकों को भी मिलेगी राहत

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- कुछ समय पहले हरियाणा सरकार की तरफ से युवाओं को रोजगार देने के लिए हरियाणा कौशल रोजगार निगम (HKRN) स्थापना की गई थी. इसके तहत TGT और PGT अध्यापकों को गृह जिले से 200 से 300 किलोमीटर की दूरी पर स्थित स्कूलों में नियुक्ति दी गई थी. इस मामले को लेकर हरियाणा सरकार ने बुधवार एक को बैठक आयोजित की. इसमे निर्णय लिया गया कि गृह जिले से दूर भेजे गए अध्यापकों का जल्द ही गृहजिले के पास तबादला किया जाएगा.

शिक्षकों

सीएम आवास का किया घेराव 

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर जानकारी देते हुए बताया कि करीब 2 महीने पहले ही 13,500 अतिथि अध्यापकों के तबादले हुए थे, जिसमें से करीब 700 अध्यापकों को गृह जिले से 200 से 300 किलोमीटर दूर Duty दी गई. तब से ये अध्यापक सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर रहे है और अध्यापकों ने करनाल में CM आवास का घेराव भी किया. अध्यापको का कहना है कि उनके तबादले पॉलिसी के खिलाफ जाकर किए गए हैं. अध्यापकों की इस मांग को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं.

8,944 पदों पर चल रही भर्ती प्रक्रिया  

जानकारी के लिए बता दे कि प्रदेश सरकार अध्यापकों को गृह जिले के पास नियुक्ति देने के लिए खाली पदों का ब्यौरा इकट्ठा कर रही है, बाद में इनके दोबारा से तबादले की जाएगे. इसके अलावा HKRN के माध्यम से TGT और PGT अध्यापकों की 8944 पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया चल रही है. इनमें से 4144 अध्यापकों को ऑफर लेटर वितरित कर दिए गए हैं जबकि शेष पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया अभी जारी है. जल्द ही इस भर्ती प्रक्रिया को पूरी करके अध्यापकों के सभी खाली पदों को भर दिया जाएगा.

700 अध्यापकों का किया जाएगा तबादला 

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार के पास TGT व PGT अध्यापकों के गृह जिले से दूर नियुक्ति देने से संबंधित मामले सामने आए हैं. करीब 700 अध्यापकों को गृह जिले से दूर भेजा गया है, जल्द ही अध्यापकों के तबादले की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इसके अलावा HKRN निगम के CEO KM पांडुरंग ने कहा कि फिलहाल अध्यापको वितरित किए गए सेंट्रो पर ही Join करना होगा. इसके बाद अध्यापकों के लिए तबादला Policy लाई जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button