Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
ChandigarhJobs

खट‍्टर सरकार का आंगनवाड़ी सहायिकाओं को तोहफा, 16 जिलों में बहाल होगी 249 आंगनवाड़ी सहायिकाएं

इस न्यूज़ को शेयर करे:

चंडीगढ़ :- महिला एवं बाल विकास ने बीते समय में हड़ताल पर जाने और विभागीय योजनाओं में बाधा डालने के कारण बर्खास्त की गई आंगनवाड़ी सहायिकाओं पर नर्म रुख अपनाया है और उनकी बहाली करना फिर से शुरू कर दिया है. विभाग ने 16 जिलों में 249 आंगनवाडी सहायिकाओं की बहाली फिर से कर दी है. अन्य सहायिकाओं की बहाली प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है.

पहले हटाया फिर दोबारा लगाने की प्रक्रिया हुई शुरू

नवंबर 2021 में अपनी मांगों को लेकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व आंगनवाड़ी सहायिका हड़ताल कर रही थी. इसके बाद 29 दिसंबर को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, महिला एवं विकास मंत्री कमलेश ढांडा ने अधिकारियों के सभी यूनियन के साथ मुलाकात की थी और कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के पक्ष में निर्णय लिए थे. इसके बावजूद कुछ यूनियन ने हड़ताल खत्म नहीं की हड़ताल को जनवरी से लेकर अप्रैल के पहले हफ्ते तक चलाया गया. लगातार जोखिम श्रेणी में आने वाले वर्ग से संबंधित योजनाओं में अवरोध होने के कारण डिस्ट्रिक्ट लेवल पर स्थानीय प्रशासन ने नोटिस देकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को हटा दिया. इसके बाद हड़ताल को खत्म करने पर सहमति हुई तथा महिला एवं बाल विकास विभाग ने इन्हें फिर से लगाने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है.

तलाकशुदा और विधवा सहायिकाओं को दी जाएगी प्राथमिकता

महिला एवं बाल विकास विभाग की निदेशक हेमा शर्मा ने बताया कि विभाग ने आंगनवाडी सहायिकाओं की बहाली शुरू कर दी है तथा इस बहाली में तलाकशुदा और विधवा सहायिकाओं को प्राथमिकता दी जाएगी. उन्होंने जानकारी दी कि पहले चरण में 16 जिलों की 249 आंगनवाडी सहायिकाओं को बहाल किया गया है. सभी जिला कार्यक्रम अधिकारियों को विभागीय प्रक्रिया पूरी करके ड्यूटी ज्वाइन करने के आदेश दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि भिवानी में 24, चरखी दादरी में 17, फरीदाबाद में 3, फतेहाबाद में 7, गुरुग्राम में 3, हिसार में 13, जींद में 19, कैथल में 14,करनाल में 72, पानीपत में 1, महेंद्रगढ़ में 3, रेवाड़ी ममें 34, रोहतक में 11, सिरसा में 5, सोनीपत में 2 व यमुनानगर में 21 आंगनवाडी सहायिकाओं की बहाली की गई है. उन्होंने कहा है कि इन की बहाली के साथ अन्य आंगनवाडी सहायिकाओं की बहाली के लिए भी नियमानुसार प्रक्रिया पूरी की जाएगी.

आंगनवाडी सहायिकाओं को किया जा रहा है बहाल

महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा का कहना है कि आंगनवाडी सहायिकाओं की बहाली की प्रक्रिया चल रही है. विधवा व तलाकशुदा सहायिकाओं को सहानुभूति के आधार पर प्राथमिकता दी जा रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी चाहते हैं, गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं व नवजात बच्चों के पोषण में अहम किरदार निभाने वाली आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और और सहायिकाओं की परेशानियों को हल किया जाए. हड़ताल के समय दर्ज कराई गई FIR और अदालत में गए मामलो के बारे में जिला कार्यक्रम अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि केस के आधार पर इनका भी निवारण किया जा सके.

Author Deepika Bhardwaj

नमस्कार मेरा नाम दीपिका भारद्वाज है. मैं 2022 से खबरी एक्सप्रेस पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रही हूं. मैंने कॉमर्स में मास्टर डिग्री की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करती हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं जॉब से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुंचाती हूँ जिससे रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button