Join Telegram Group Join Now
Join WhatsApp Group Join Now
Big Breakinginternational

Shinzo Abe Shot: जापान के PM शिंजो आबे पर जानलेवा हमला, भाषण के दौरान मारी गोली

इस न्यूज़ को शेयर करे:

Shinzo Abe Shot : जापान के पूर्व प्रधानमंत्री Shinzo Abe पर आज जानलेवा हमला हुआ है. उनको भाषण के दौरान गोली मारी दी गई हैं. फिलहाल Shinzo Abe की हालत अभी नाजुक बताई जा रही है. उनके दिल ने भी काम करना बंद कर दिया है और सांस भी नहीं आ रही है. फिलहाल उनको दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया गया है. गोली लगने के बाद आबे का काफी खून भी निकल गया था.

गोली लगने के बाद पड़ा दिल का दौरा

जानकारी के मुताबिक, गोली लगने के बाद से ही शिंजो आबे (उम्र 67 साल) को दिल का दौरा भी पड़ गया था. फिलहाल एक संदिग्ध हमलावर को हिरासत में ले लिया गया है. अब जापान के मौजूदा प्रधानमंत्री फुमिओ किशिदा उस हॉस्पिटल (Nara Medical University Hospital) में जा रहे हैं, जहां शिंजो आबे भर्ती करवाए गए है.

जापान के नारा शहर में हुआ था हमला

शिंजो आबे पर यह हमला नारा शहर में हुआ है. तब वह वहां भाषण दे रहे थे. अचानक से आबे नीचे गिर गए और उनके शरीर से काफी खून भी निकलने लग गया था. शिंजो आबे के अचानक ऐसे गिरने से वहां मौजूद लोगों को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था , लेकिन इसी दौरान कुछ लोगों ने वहां गोली चलने जैसी कुछ आवाजें सुनाई दी थी.

चलाई गई थी 2 गोलियां

बता दे कि जापान में रविवार को उच्च सदन के चुनाव होने वाले हैं. इसीलिए शिंजो आबे वहां कैंपिंग करने गए थे. जानकारी के मुताबिक कुल 2 गोलियां चलाई गई थी. जिस संदिग्ध शख्स को गिरफ्तार किया गया है वह 41 वर्ष का है. उसका नाम yamagami Tetsuya हैं. उसके पास से बंदूक भी जब्त कर ली गई है.

लंबे समय तक पीएम रहने वाले नेता

शिंजो आबे ने साल 2020 में प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने ऐसा अपना स्वास्थ्य ठीक नहीं रहने के चलते किया था. वह काफी लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. वह जापान के सबसे लंबे वक्त तक पीएम रहने वाले नेता रहे है.

भारत ने किया था पदम भूषण पुरस्कार से सम्मानित

जापान के पूर्व पीएम शिंजो अबे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास दोस्त भी रहे हैं. कई मौकों पर पीएम मोदी और शिंजो आबे एक दूसरे को याद भी कर चुके हैं. पिछले साल ही भारत ने शिंजो आबे को पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button